Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अलविदा 2018: पूरी दुनिया में एक दिन के लिए बंद हुआ था इंटरनेट, जानें इसके पीछे की वजह

2018 साल अपनी समाप्ति की ओर बढ़ रहा है, इसके साथ ही इस साल कुछ चौकाने वाली घटना हुई थी। आज हम आपको ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे है, जो आपको हैरान करे देगी।

अलविदा 2018: पूरी दुनिया में एक दिन के लिए बंद हुआ था इंटरनेट, जानें इसके पीछे की वजह
X

2018 साल अपनी समाप्ति की ओर बढ़ रहा है, इसके साथ ही इस साल कुछ चौकाने वाली घटना हुई थी। आज हम आपको ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे है, जिससे पूरी दुनिया में खलबली मच गई थी।

अक्टूबर 2018 के महीने में एक दिन के लिए पूरी दुनिया में इंटरनेट बंद हो गया था, जिसकी वजह से कई देशों में भी इस परेशानी का सामना करना पड़ा था। आइए जानते है अखिर क्यो बंद हुआ था इंटरनेट और क्या इसके पीछे की वजह थी.....

ऐसे करें अपनी ई-पेमेंट और ऑनलाइन ट्रांसजेक्शन को सेव, फॉलो करें ये तरीका

कुछ घंटो के लिए बंद हुआ था इंटरनेट

मुख्य डोमेन सर्वर्स अगले कुछ घंटो तक रुटीन मेंटनेंस के लिए गए थे, जिसकी वजह से इंटरनेट बंद हो सकते थे। वहीं एक रिपोर्ट के अनुसार, अगले कुछ घंटों तक इंटरनेट यूजर्स को नेटवर्क फेलियर की परेशानी का सामना करना पड़ सकता था।

इसके साथ ही मुख्य डोमेन सर्वर्स के साथ जुड़े नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर कुछ समय के लिए डाउन हो गए थे।

इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइन्ड नेम्स एंड नंबर्स इस दौरान क्रिप्टोग्राफिक में बदलाव किए थे और उस समय मेंटनेंस पर भी काम किया गया था। इसकी वजह से इंटरनेट के अड्रेस बुक के साथ डोमेन नेम सिस्टम यानी (DNS) को प्रोटेक्ट करने में आसानी हुई थी।

ICANN ने कहा था कि साइबर अटैक की घटनाएं काफी बढ़ती जा रही थी, इस चीज से बचने के लिए इस तरह की मेंटनेंस पर काम करना बेहद जरूरी हो गया था।

कम्युनिकेशन्स रेगुलेटरी अथॉरिटी (CRA) ने बयान जारी कर कहा था कि ग्लोबल इंटरनेट शटडाउन, सुरक्षा, स्थिर और लचीले डीएनएस के लिए बेहद अहम था। इसके साथ ही अथॉरिटी ने आगे कहा था कि हम साफ कह रहे है।

यह थी वजह और जानें कितने लोग हुए थे प्रभावित

कितने यूजर्स हुए थे प्रभावित

इंटरनेट की मेंटेनेंस की वजह से दुनिया के 1 प्रतिशत लोग यानी करीब 36 मिलियन करीब 3.6 करोड़ लोग प्रभावित हुए थे। इसके साथ ही इसका प्रभाव भारत में भी हो सकता था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ था।

कौन-कौन हुए थे प्रभावित

इस ग्लोबल मेंटेंनेस की वजह से वहीं लोग प्रभावित हुए थे, जिनके सर्विस प्रोवाइडर इनक्रिप्टग्राफी में बदलाव करने के लिए तैयार नहीं थी और फिर देर से बदलाव किए गए थे।

एक साथ पूरी दुनिया में इंटरनेट बंद होना बहुत मुश्किल हैं। अगर ऐसा होता, तो भारत में सबसे ज्यादा रेलवे, टेलीकॉम के साथ बैंकिंग की सर्विस प्रभावित होती। साथ ही इंटरनेट बंद होने की वजह से अरबों का नुकसान भी हो सकता था।

विशेषज्ञों बीच हुई थी बहस

यह जानकारी नहीं मिली थी कि कब-कब कहां इंटरनेट बंद हुआ था और साथ ही कितनी देर के लिए बंद हुआ था। वहीं कुछ विशेषज्ञों का कहना था कि एक साथ पूरी दुनिया में इंटरनेट सर्विस बंद हो सकती थी।

Whatsapp जल्द ही स्टेटस फीचर में दिखाएंगा विज्ञापन, कर सकता है नया फीचर लॉन्च

वहीं दूसरी तरफ कुछ विशेषज्ञों का कहना था कि इंटरनेट एक साथ पूरी दुनिया में बंद नहीं हो सकता हैं नहीं तो इससे बहुत नुकसान हो सकता था। ऐसे में विशेषज्ञों के बीच मतभेद भी हो रहे थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story