Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब आधार वेरिफिकेशन में नहीं होगी कोई दिक्कत, सरकार ने लिया है ये फैसला

आधार-धारकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए और आधार वेरिफिकेशन में आ रही समस्या को देखते हुए सरकार ने औटीपी के लिए मोबाइल नेटवर्क की निर्भरता समाप्त कर दी है।

अब आधार वेरिफिकेशन में नहीं होगी कोई दिक्कत, सरकार ने लिया है ये फैसला
X

आधार-धारकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए और आधार वेरिफिकेशन में आ रही समस्या को देखते हुए सरकार न पूरी तैयारी कर ली है। सरकार डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए, अब आधार का वेरिफिकेशन के लिए मोबाइल ऐप एमआधार को डेवलप किया गया है।

यह ऐप आधार वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को सुगम बनाएगा। साथ ही साथ आधार कार्ड से जुड़ी सभी सेवाओं का इस्तेमाल करने में आ रही समस्याओं को दूर करेगा।

यह भी पढ़ें खुशखबरी: फिर से शुरू होगी जियोफोन की बुकिंग


सरकार ने आंकड़ा जारी करके बताया कि सितंबर में आधार का ऑथेंटिकेशन पिछले महीने के 100 करोड़ से बढ़कर करीब 150 करोड़ हो गया है। बायोमेट्रिक आईडी के उपयोग में इतनी बड़ी बढ़ोतरी को देखते हुए सरकार ने मोबाइल ऐप के जरिए आधार ऑथेंटिकेशन की प्रक्रिया को आसान बनाने का फैसला लिया है।

पिछले महीने आधार प्रमाणीकरण की संख्या 148.3 करोड़ थी, जो देश की जनसंख्या से कहीं अधिक थी। यह संख्या दिसंबर 2016 में सिर्फ 17 करोड़ थी। ऐसे में यह अभूतपूर्व वृद्धि है, जो बताती है कि हर आधार-धारक ने सितंबर में कम से कम एक बार लाभ या अन्य सेवाओं के लिए आधार आईडी का इस्तेमाल किया था।

यह भी पढ़ें खुशखबरी: आपका व्हॉट्सऐप चैट हो सकता है हैक, कभी न करें ये गलती

वर्तमान में करीब 118.5 करोड़ लोगों के पास आधार नंबर है। सरकार ने हाल ही में लॉन्च किए गए मोबाइल ऐप, एमआधार को ओटीपी के जरिये सभी आधार प्रमाणीकरण करने में सक्षम करने का फैसला किया है। सितंबर में करीब 31 करोड़ ट्रांजेक्शन ओटीपी के जरिए किए गए थे।

यह थी समस्या

यूआईडीएआई के सामने सबसे बड़ी समस्या खराब मोबाइल नेटवर्क और सिग्नल का था, जिससे पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी डिलीवरी होने में देरी होती थी। कभी-कभी पासवर्ड भी जेनरेट नहीं होते थे। जुलाई में ऐप को लॉन्च किए जाने के बाद से ऐप को करीब 10 लाख से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है।

यह है समाधान

इस ऐप के आ जाने से मोबाइल नेटवर्क पर यूजर के डिपेंडेंट होने (निर्भरता) खत्म हो गई है। एमआधार ऐप में टाइम बेस्ड ओटीपी (TOTP) भेजा जाता है, ताकि लोगों को अपने मोबाइल पर ओटीपी के आने का इंतजार न करना पड़े। ऐप पर 30 सेकंड के लिए TOTP हमेशा उपलब्ध होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story