Logo
election banner
Weak Surya and Chandra Effects: रिश्तों को ग्रहों की भी नजर लग सकती है। यह सच है, कहते है यदि कोई व्यक्ति अपने माता-पिता के साथ दुर्व्यवहार करता है तो उसकी कुंडली में सूर्य और चंद्र कमजोर होने लगते है।

Weak Surya and Chandra Effects: रिश्तों को ग्रहों की भी नजर लग सकती है। यह सच है, कहते है यदि कोई व्यक्ति अपने माता-पिता के साथ दुर्व्यवहार करता है तो उसकी कुंडली में सूर्य और चंद्र कमजोर होने लगते है। इन दोनों ग्रहों के कमजोर होने की स्तिथि में व्यक्ति को जीवन में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। कुंडली में इन दोनों ग्रहों की अशुभ स्तिथि रिश्तों में खटास उत्पन्न कर सकती है। चलिए जानते है इसके बारे में विस्तार से- 

चंद्र ग्रह से माता का संबंध

मां का संबंध चंद्र ग्रह से होता है। यह ग्रह मन, धन, मानसिक स्थिति, माता आदि का कारक माना गया है। ज्योतिष शास्त्र कहता है कि, यदि कोई भी व्यक्ति अपनी मां को अपमानित करता है अथवा उनके साथ बुरा वर्ताव करता है तो चंद्र ग्रह कमजोर होता है। इससे व्यक्ति के जीवन में परेशानियां आती है। चंद्र कमजोर होने की स्तिथि में व्यक्ति को मानसिक बीमारी घेर लेती है। वह तनाव में रहने लगता है और उसकी आर्थिक स्तिथि भी लगातार कमजोर होती है। 

पिता का संबंध सूर्य ग्रह से

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य ग्रह से पिता का संबंध माना गया है। यह ग्रह तेज, उर्जा, मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा, उन्नति, तरक्की का कारक है। कहते है जो व्यक्ति अपने पिता का सम्मान नहीं करता है, उसकी कुंडली में सूर्य ग्रह की स्तिथि कमजोर होने लगती है। ऐसा होने से उसके जीवन से सफलता दूर जाने लगती है। ऐसा व्यक्ति शारीरिक परेशानियों से घिरा रहता है। इसके अलावा सूर्य पुत्र शनि का बुरा प्रभाव भी उस व्यक्ति के जीवन पर असर डालता है। 
 

jindal steel Ad
5379487