logo
Breaking

टीएमसी सांसद सृंजॉय बोस ने छोड़ी पार्टी, राज्‍यसभा की सदस्‍यता से भी दिया इस्‍तीफा

गिरफ्तारी के बाद तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ उनकी दूरी बढ़ी थी।

टीएमसी सांसद सृंजॉय बोस ने छोड़ी पार्टी, राज्‍यसभा की सदस्‍यता से भी दिया इस्‍तीफा

कोलकाता. सारदा घोटाले में आरोपी और टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस) के सांसद सृंजॉय बोस ने पार्टी छोड़ दी है। उन्होंने राज्यसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा भी दे दिया है। गौर हो कि बुधवार को ही सारदा घोटाले मामले में उन्हें जमानत मिली थी। बुधवार को ही वह जेल से बाहर आए थे। 21 नवंबर को उन्हें गिरफ्तार किया गया था, लेकिन गिरफ्तारी के बाद से वह अस्वस्थ हो गये थे। ममता बनर्जी का बीजेपी पर निशाना, बोलीं- सीबीआई का गलत इस्तेमाल कर रही है केंद्र सरकार

वह तृणमूल के राज्यसभा सांसद बने, लेकिन उनकी गिरफ्तारी के बाद तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ उनकी दूरी बढ़ी थी और बोस के परिवार का मानना था कि तृणमूल कांग्रेस ने उनका साथ नहीं दिया था। वहीं मुकुल घोष ने भी ममता बनर्जी पर संगीन अपराध लगाये थे

शारदा घोटाला: सीबीआई की कार्यवाही, पूर्व केंद्रीय मंत्री मतंग सिंह गिरफ्तार

यही नहीं ममता के बेहद करीबी माने जाने वाले मुकुल रॉय की भी ममता ते लल्खी कुछ दिन पहले सामने आयी थी। सारदा चिटफंट घोटाले में तृणमूल सांसद कुणाल घोष और पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री मदन मित्रा भी सीबीआई की गिरफ्त में हैं। तृणमूल नेता मुकुल राय से भी हाल ही में पूछताछ की गई है।

सारदा चिटफंड घोटाला, सीबीआई के सामने पेश हुए टीएमसी सांसद मुकुल रॉय

गौरतलब है कि ममता ने भाजपा पर सीबीआई के गलत इस्तेमाल का आरोप लगाया था। वहीं उन्होंने कहा था कि बोस पर शारदा घोटाले में शामिल होने का झूठा आरोप लगाया गया है। बीजेपी उनसे बदला ले रही है। उन्होंने कहा, 'जिन लोगों निवेशकों को धोखा दिया, उन पर कार्रवाई करने के बजाया सीबीआई सारदा को धोखा देने वालों पर कार्रवाई कर रही है।

नीचे की स्लाइड्स में जानिए, क्‍या बोले बोस -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top