logo
Breaking

''TMC'' सांसद का केद्र सरकार पर निशाना, गैर ''BJP'' राज्यों की झाकियों की उपेक्षा का आरोप

ओ ब्रायन ने कहा कि बंगाल की कन्या श्री योजना अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है।

कोलकाता.राजपथ पर गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया जा चुका है। लेकिन राजपथ दिल्ली में गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर गैर भाजपा शासित राज्यों का प्रतिनिधित्व नहीं रहा। इन राज्यों में बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, केरल और तमिलनाडु जैसे ज्यादातर गैर भाजपा शासित राज्य शामिल हैं।

हम मिलकर मजबूत दुनिया का निर्माण कर सकते हैं, नारी की भूमिका अहम- ओबामा

गौरतलब है कि राजपथ पर आयोजित कार्यक्रम में देश के केवल 16 राज्यों को ही जगह मिली थी। इसके अलावा केंद्र सरकार के 9 मंत्रालयों की झांकियों को परेड में जगह मिली। हालांकि इस बार गणतंत्र दिवस की झांकियों में भाजपा शासित पंजाब और राजस्थान की झांकियां भी शामिल नहीं हुई। जबकि राजपथ पर गणतंत्र दिवस के मौके पर हिमाचल प्रदेश,नगालैंड,त्रिपुरा, मणिपुर, मेघालय और मिजोरम जैसे पूर्वोत्तर राज्यों को भी झांकी दिखाने को जगह नहीं दी गई। जानकारी के मुताबिक राजपथ की झांकियों में केंद्र शासित क्षेत्र की झांकियों को भी जगह नहीं दी गई।
सोमवार को अब गणतंत्र दिवस के समापन के बाद टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार से राज्य सरकार के अनुरोधों के बावजूद पश्चिम बंगाल की झांकी को शामिल नहीं किया गया। और पश्चिम बंगाल की झांकी को अनुमति नहीं दी गई। ओ ब्रायन के मुताबिक इस परेड में पश्चिम बंगाल की झांकी में कन्या श्री योजना का चित्रण किया जाना था लेकिन केंद्र सरकार से उन्हें अनुमति नहीं दी गई। ओ ब्रायन ने कहा कि बंगाल की
कन्या श्री योजना
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है।और ब्रिटेन के अंतरराष्ट्रीय विकास विभाग और यूनीसेफ ने बालिका शिखर सम्मेलन-2014 के लिए भी इस योजना का चयन किया था।
नीचे की स्लाइड्स में पढिए, पूरी खबर-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top