Logo
election banner
Dhanbad News: पुलिस ने कहा कि राकेश तिवारी खुद कार चला रहे थे, तभी कार ने नियंत्रण खो दिया और सड़क के डिवाइडर से टकरा गई। पुलिस दुर्घटना के सही कारण का पता लगाने के लिए मामले की जांच कर रही है।

Dhanbad News: मशहूर बॉलीवुड एक्टर पंकज त्रिपाठी पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। पंकज त्रिपाठी के बहनोई की शनिवार, 20 अप्रैल को झारखंड के धनबाद में एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। जबकि उनकी बहन, भांजा और भांजी गंभीर रूप से घायल हो गईं। अधिकारियों ने बताया कि दुर्घटना शाम करीब साढ़े चार बजे दिल्ली-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर निरसा बाजार में हुई। कार में दंपति सवार थे। अचानक कार डिवाइडर से टकरा गई। हादसे का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल है।

Watch Video...

गोपालगंज से कोलकाता जा रहा था परिवार
जानकारी के अनुसार, पंकज त्रिपाठी ने बहन सरिता तिवारी की शादी बिहार के गोपालगंज जिले में बरौली थाना क्षेत्र के कमालपुर गांव निवसी राकेश उर्फ मुन्ना तिवारी के साथ की थी। राकेश अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे। जबकि सरिता पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में सरकारी टीचर हैं। दोनों से एक बेटा और एक बेटी हैं। चार दिन पहले राकेश अपने पूरे परिवार के साथ अपने मां-बाप से मिलने के लिए पैतृक गांव कमालपुर आए थे। शनिवार को सभी वापस चित्तरंजन लौट रहे थे। 

कार पंकज त्रिपाठी के बहनोई राकेश तिवारी चला रहे थे। कार में बहन सरिता तिवारी और उनके दोनों बच्चे भी थे। लेकिन झारखंड में धनबाद जिले के सिरसा में उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई। हादसे में राकेश की मौत हो गई। जबकि अन्य तीनों घायल हैं। धनबाद के शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसएनएमएमसीएच) में तीनों घायलों का इलाज चल रहा है।

बहन के पैर में फ्रैक्चर
एसएनएमएमसीएच के इमरजेंसी एचओडी डॉ. दिनेश कुमार गिंदौरिया ने बताया कि पंकज त्रिपाठी की बहन के पैर में फ्रैक्चर हुआ था, खतरे से बाहर हैं। पुलिस ने कहा कि राकेश तिवारी खुद कार चला रहे थे, तभी कार ने नियंत्रण खो दिया और सड़क के डिवाइडर से टकरा गई। पुलिस दुर्घटना के सही कारण का पता लगाने के लिए मामले की जांच कर रही है।

कौन हैं पंकज त्रिपाठी?
पंकज त्रिपाठी एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेता हैं, जिन्हें 'मैं अटल हूं', 'ओएमजी-2', 'स्त्री', 'लूडो' जैसी बॉलीवुड फिल्मों में उनकी भूमिकाओं के लिए जाना जाता है। वेब-सीरीज़ "मिर्जापुर" में उनकी सशक्त भूमिका के लिए उन्हें "कालीन भैया" के नाम से भी जाना जाता है।

5379487