Logo
election banner
Prime Minister Narendra Modi Visit Ahmedabad: पीएम मोदी गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन महासंघ (GCMMF) के स्वर्ण जयंती समारोह में हिस्सा लेंगे। यह कार्यक्रम अहमदाबाद स्थित मोटेरा स्टेडियम में होगा।

Prime Minister Narendra Modi Visit Ahmedabad: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 फरवरी यानी आज गुजरात पहुंचे। पीएम मोदी गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन महासंघ (GCMMF) के स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल हुए। यह कार्यक्रम अहमदाबाद स्थित मोटेरा स्टेडियम में हुआ। इसमें 1.25 लाख से अधिक किसान शामिल हुए। प्रधानमंत्री ने कहा कि गुजरात के गांवों ने मिलकर 50 वर्ष पहले जो पौधा लगाया था वो आज विशाल वटवृक्ष बन गया है और इस विशाल वटवृक्ष की शाखाएं आज देश विदेश तक फैल चुकी हैं। गुजरात कॉपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन की स्वर्ण जयंती पर आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं।

देश में बहुत से ब्रांड बने, लेकिन अमूल जैसा कोई नहीं
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की आजादी के बाद देश में बहुत से ब्रांड बने, लेकिन अमूल जैसा कोई नहीं। आज अमूल भारत के पशुपालकों के सामर्थ्य की पहचान बन चुका है। छोटे-छोटे पशुपालकों की ये संस्था आज जिस बड़े पैमाने पर काम कर रही है, वही तो संगठन की शक्ति है, सहकार की शक्ति है।

डेयरी सेक्टर 6 फीसदी की दर से आगे बढ़ रहा
पीएम मोदी ने कहा कि दूरगामी सोच के साथ लिए गए फैसले कई बार आने वाली पीढ़ियों का भाग्य बदल देते हैं। अमूल इसका उदाहरण है। अमूल की नींव सरदार वल्लभशभाई पटेल ने रखी थी। अब गुजरात दूध उत्पादन में नबर वन है। ऐसे ही प्रयासों की बदौलत हम दुनिया में दूध उत्पादन में नंबर एक देश हैं। पिछले 10 साल में 60 फीसदी दूध उत्पादन बढ़ा है। दुनिया में डेयरी सेक्टर सिर्फ 2 फीसदी की दर से आगे बढ़ रहा है। जबकि भारत में डेयरी सेक्टर 6 फीसदी की दर से आगे बढ़ रहा है।

डेयरी सेक्टर की असली रीढ़ महिला शक्ति
पीएम मोदी ने कहा कि भारत के डेरी सेक्टर की एक सबसे बड़ी विशेषता है, जिसकी चर्चा कम होती है। भारत में 10 करोड़ टर्न ओवर वाले डेयरी सेक्टर की मुख्य कर्ता धर्ता हमारी माताएं-बहनें हैं। आज देश में धान, गेहूं, गन्ने को भी मिला दें तो भी इन फसलों का टर्न ओवर 10 लाख करोड़ रुपए नहीं होता है। डेयरी सेक्टर में 70 फीसदी काम करने वाली माताएं हैं। डेयरी सेक्टर की असली रीढ़ यही महिला शक्ति है। अमूल जिस सफलता की ऊंचाई पर है, वह सिर्फ महिला शक्ति की बदौलत है। 

पीएम मोदी ने कहा कि आज जब भारत वीमेन लेड मंत्र के साथ बढ़ रहा है तो डेयरी सेक्टर की सफलता बड़ा उदाहरण है। भारत को विकसित बनाने के लिए भारत की प्रत्येक महिला की आर्थिक शक्ति बढ़नी उतनी ही आवश्यक है। इसलिए हमारी सरकार महिलाओं की आर्थिक शक्ति बढ़ाने के लिए चौतरफा काम रही है। मुद्रा योजना के तहत 30 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा मदद दी है, उसमें 70 फीसदी लाभार्थी महिलाएं हैं। 

पीएम मोदी ने बताया कि सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत 4 करोड़ घर दिए हैं। उसमें अधिक महिलाओं के नाम पर है। नमो ड्रोन दीदी अभियान के तहत गांव के स्वयं सहायता समूह को 15 हजार ड्रोन दिए जा रहे हैं। ट्रेनिंग दी जा रही है। वह दिन दूर नहीं, जब गांव गांव में कीटनाशक से लेकर खाद छिड़कने में नमो दीदियां आगे रहेंगी। मुझे याद है जब गुजरात में था, तो डेयरी सेक्टर से जुड़ा एक बड़ा काम किया था। तब सुनिश्चित किया था कि डेयरी सेक्टर की महिलाओं के खाते में सीधे पैसा भेजे। हर गांव में माइक्रो एटीएम लगने से किसानों को पैसा निकालने के लिए ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा। जल्द रूपे कार्ड भी दिए जाएंगे। 

पहले की सरकारें गांव के विकास को टुकड़ों में देखती थीं
पीएम मोदी ने कहा कि गांधीजी कहते थे कि भारत की आत्मा गांव में बसती है। इसलिए गांव का सशक्त रहना जरूरी है। पहले की सरकारें गांव की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं। लेकिन हम सामूहिक रूप से विकास कर रहे हैं। हमारा फोकस पशुपालन का दायरा बढ़ाने पर है। पशुपालन के अलावा मधु मक्खी पालन, मछली पालन को भी बढ़ावा दे रहे हैं। उन्हें किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा दी गई है। उन्नत बीज दिए जा रहे हैं। राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत दुधारू पशुओं की नस्ल सुधारी जा रही है। खुरपका, मुंहपका की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार ने मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया। इस पर 15 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। 60 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं। 2030 तक इस बीमारी को खत्म करने पर काम कर रहे हैं। 

गुजरात ने पानी के संकट को देखा है
पीएम मोदी ने कहा कि पशुधन समृद्धि के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने कई महत्वपूर्ण फैसले किए हैं। देसी नस्ल को बचाने के लिए काम होगा। बंजर जमीन को चारागाह में बदला जाएगा। पशुधन का बीमा कराने में किसान का कम से कम खर्च हो, इसलिए प्रीमियम की राशि को कम करने का फैसला लिया है। हम गुजरात के लोग जानते हैं कि पानी का संकट क्या होता है? सौराष्ट्र में हमने अकाल के दिनों में एक स्थान से दूसरे स्थान तक मीलों चलते देखा है। जल पहुंचने के बाद इन क्षेत्रों का समय बदल गया है। सरकार ने 60 हजार से ज्यादा अमृत सरोवर बनाए हैं। यह गांवों को काफी मदद पहुंचाएंगे।  

महेसाणा से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तारभ और नवसारी में दो सार्वजनिक समारोहों में शामिल होंगे। इस दौरान तमाम प्रोजेक्ट्स की सौगात देंगे। परियोजनाओं में गांधीनगर, अहमदाबाद, बनासकांठा, आनंद, महेसाणा, कच्छ, खेड़ा, भरूच, तापी, वडोदरा, सूरत जैसे जिलों में सड़क, रेल, ऊर्जा, स्वास्थ्य, इंटरनेट कनेक्टिविटी, शहरी विकास, जल आपूर्ति, पर्यटन आदि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्र शामिल होंगे। 

8 हजार पंचायतों को मिलेगा हाई स्पीड इंटरनेट
तारभ में प्रधानमंत्री भारत नेट फेज- टू, गुजरात फाइबर ग्रिड नेटवर्क लिमिटेड सहित महत्वपूर्ण परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे, जो 8,000 से अधिक ग्राम पंचायतों को हाई-स्पीड इंटरनेट प्रदान करेगा। काकरापार परमाणु उर्जा स्टेशन पर पीएम मोदी दो नए प्रेसराइज्ड हेपी वॉटर रिएक्टर (PHWR) का उद्घाटनन करेंगे। 

jindal steel Ad
5379487