Logo
दिल्ली की जलमंत्री आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पानी बचाने के लिए कई नसीहत दीं, लेकिन कुछ सलाह पर लोग भड़क गए हैं। पढ़िये पूरा मामला...

दिल्ली की जलमंत्री आतिशी ने पेयजल संकट से निपटने के लिए राजधानी के लोगों को कई सलाह दी है। उन्होंने गाड़ी से लेकर कपड़े धोने और पौधों को पानी देने समेत कई सलाह दी हैं। हालांकि कई सलाह ऐसी हैं, जिस पर सोशल मीडिया के यूजर्स भड़क गए हैं। इन यूजर्स के गुस्से की वजह बताने से पहले बताते हैं कि आतिशी ने आखिर क्या कहा...

हिमाचल ने पानी देने से नहीं किया इनकार 

दिल्ली की जलमंत्री आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हिमाचल प्रदेश ने सुप्रीम कोर्ट में यह बात कही है कि वो अतिरिक्त पानी दिल्ली को नहीं दे सकता है। हालांकि वो नियमित रूप से तय मात्रा के अनुरूप पेयजल सप्लाई करता रहेगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में पानी टैंकर माफिया सक्रिय है, तो हरियाणा पुलिस को एक्शन लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर टैंकर माफिया पर पूरी नकेल कसी जाए तो भी 0.1 से 0.5 एमजीडी पेयजल सप्लाई ही हो पाएगी। ऐसे में लोगों को पेयजल का सोच समझकर यूज करना चाहिए।

आने वाले समय में जारी रहेगी पेयजल समस्या 

आतिशी ने आगे कहा कि दिल्ली में पानी की किल्लत की समस्या जब तक रह सकती है, जब तक यमुना को पानी नहीं मिलता है या तो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पूरी कैपेस्टी से काम नहीं करते, तब तक यह समस्या रहेगी।

इस सलाह पर भड़के यूजर्स 

इससे पूर्व आतिशी ने पेयजल संरक्षण के लिए कई नसीहतें दीं। उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की कि गाड़ी को धोने में कम पानी इस्तेमाल करें। वॉशिंग मशीन में भी पानी की बर्बादी होती है, इसलिए कम लोड पर ही कपड़े धोने चाहिए। इसके अलावा, उन्होंने यह भी कहा कि गार्डन की साफ सफाई, बालकनी और गमलों में पेयजल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इस पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि अगर गमलों को पानी नहीं दिया तो पौधे कैसे जीवित रहेंगे।

X यूजर्स  विवेक ने लिखा कि इनको अगर हटाया नहीं गया तो इसका असर विधानसभा चुनाव में होगा। वहीं हितेश ने लिखा कि दिल्ली पेयजल संकट के लिए हरियाणा, बिजली संकट के लिए यूपी और वायु प्रदूषण के लिए पंजाब जिम्मेदार है तो आप किस लिए जिम्मेदार हैं। इसी प्रकार अन्य यूजर्स भी आम आदमी पार्टी को घेर रहे हैं। 

मंत्री आतिशी की अजीबोगरीब नसीहत के पीछे का असल उद्देश्य 

पानी की टंकी पर नजर रखें: आतिशी ने पहली सलाह दी है कि कुछ लोगों की पानी की टंकी ओवरफ्लो रहती है, जिससे पानी की बर्बादी होती है। इससे बचना चाहिए।

बाल्टी से कम पानी में धोएं गाड़ियां: आतिशी ने दूसरी सलाह दी कि अगर गाड़ी धोनी है, तो बाल्टी में कम पानी से गाड़ी धोएं। पाइप से गाड़ी धोने से पानी की बर्बादी होती है। 

वॉशिंग मशीन में कम पानी रखें: आतिशी का कहना है कि कई लोग कम कपड़ों के बावजूद अधिक पानी वॉशिंग मशीन में भर लेते हैं और तीन चार बार कपड़े साफ करते हैं। इससे बचना चाहिए। 

गमलों को पानी न दें: आतिशी ने यह भी कहा कि बालकनी, गमलों और बगीचों की सफाई में पानी का इस्तेमाल नहीं करना। उनका कहना है कि पेयजल की बजाए अतिरिक्त पानी इस्तेमाल करना चाहिए। नीचे देखिये प्रेस कॉन्फ्रेंस का पूरा वीडियो...

 

 

jindal steel hbm ad
5379487