Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

14 विधायक एक साल के लिए हुए सस्पेंड

कालूलाल गुर्जर ने करवाया विधायकों को सस्पेंड।

14 विधायक एक साल के लिए हुए सस्पेंड
X

राजस्थान के 14 विधायकों को स्पीकर कैलाश मेघवाल ने एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया है। इन पर आरोप है कि ये विधानसभा में लगातार हंगामा कर रहे थे।

स्पीकर के इस सख्त सजा पर विपक्ष का कहना है कि बटन दबाने के बावजूद उनके एक विधायक को सवाल नहीं करने दिया गया। इसी बात पर विधायक भड़क गए। हंगामा इतना बढ़ा कि अध्यक्ष को हालात संभालने के लिए मार्शल बुलाने पड़े।

प्रश्न ना पूछने देने पर हुआ हंगामा

जानकारी के मुताबिक, विधानसभा में प्रश्नकाल शुरू होते ही हंगामा शुरु हो गया। कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह डोटासर ने एक सवाल पूछने के लिए बटन दबाया, लेकिन स्पीकर ने उन्हें मौका नहीं दिया।

यह मेरे अधिकार क्षेत्र का मामला है

कांग्रेस विधायक ने सवाल ना पूछे देने का अधिकार दिया तो डोटासरा ने इसका विरोध किया। इसके बदले में स्पीकर ने जवाब में कहा कि ये मेरे अधिकार क्षेत्र का मामला है। इसी बात पर विपक्षी विधायक अशोक चांदना और धीरज गुर्जर समेत कई विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया। बाद में सदन की व्यवस्था बनाए रखने के लिए स्पीकर को मार्शल बुलाने पड़े।

बार-बार रोका, लेकिन वो नहीं माने

हंगामे के वक्त विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ, गाली-गलोच ही हुआ। स्पीकर ने हंगामा कर रहे विधायकों को बार-बार रोका, लेकिन जब हालात काबू से बाहर हो गया तो मजबूरन उन्हें मार्शल बुलाने पड़े।

कालूलाल ने करवाया विधायकों को सस्पेंड

सरकार की तरफ से बीजेपी विधायक कालूलाल गुर्जर ने हंगामा करने वाले 14 विधायकों को विधानसभा से सस्पेंड करने का प्रस्ताव रखा, जिसे स्पीकर ने तुरंत स्वीकार कर लिया।

इन विधायकों को किया गया सस्पेंड

बसपा के मनोज न्यांगली और निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल, विपक्ष के सचेतक, कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह डोटासरा, उपनेता रमेश मीणा, अशोक चांदना, धीरज गुर्जर, घनश्याम मेहर, दर्शन सिंह, श्रवण कुमार, शकुंतला रावत, रामनारायण गुर्जर और निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल और बसपा के मनोज न्यांगली शामिल हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story