Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बांग्‍लादेश की अनुमति देने के बाद भी भारत में ही रहना पसंद करुंगी: तस्लीमा

तस्लीमा वर्तमान में यूरोप की नागरिक हैं और अमेरिका की स्थाई निवासी भी हैं।

बांग्‍लादेश की अनुमति देने के बाद भी भारत में ही रहना पसंद करुंगी: तस्लीमा
नई दिल्ली. भारत से रेजिडेंट वीजा की उम्मीद कर रहीं बांग्लादेश की विवादित लेखिका तस्लीमा नसरीन का कहना है कि अगर बांग्लादेश उन्हें आने की अनुमति देता है तो भी वह बाकी जिंदगी अपने दूसरे घर यानि भारत में ही बिताना चाहती हैं।
एक साक्षात्कार में तस्लीमा ने कहा, 'मैं भारत में रहना चाहती हूं..मैं और कहां जा सकती हूं। मैं यूरोप की एक नागरिक हूं और अमेरिका की स्थाई निवासी हूं लेकिन सांस्कृतिक जुड़ाव की वजह से मैंने भारत को रहने के लिए चुना है।' उन्होंने कहा, 'पिछले 20 सालों के दौरान बांग्लादेश की तुलना में भारत में मेरी कई लोगों से दोस्ती हुई। अगर आप इस प्रकार की विचारधारा वाले लोगों के साथ रहते हैं तो रिश्तेदार महत्वपूर्ण नहीं हैं। महत्वपूर्ण यह है कि आप जो कहते हैं उसमें कितने लोग विश्वास करते हैं।' 51 वर्षीय लेखिका का कहना है, 'बांग्लादेश के प्रकाशकों और बुद्धिजीवी वर्ग ने भी मुझसे संपर्क बनाए रखने के प्रयास नहीं किए। इसलिए मेरे देश और मेरे बीच रिश्ता टूट गया है।'
तस्लीमा ने रेजिडेंट (निवास) वीजा के लिए आवेदन किया था और गृह मंत्रालय ने उन्हें सिर्फ दो महीने का वीजा दिया है। इसकी अवधि एक अगस्त से शुरू हुई है। तस्लीमा ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। अब वह दीर्घकालीन निवास वीजा मिलने की उम्मीद कर रही हैं। उन्होंने कहा, 'मुझे यकीन नहीं है लेकिन गृह मंत्री ने वादा किया है कि वह निवास परमिट को दीर्घकालीन समय के लिए कर देंगे। अगर उनका मन नहीं बदला तो मुझे उम्मीद है कि मुझ लंबे समय के लिए वीजा मिल जाएगा।'
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, क्यों जाना पड़ा था भारत छोड़कर तस्लीमा को -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top