Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

संविधान और आर्मी के बाद देश की सुरक्षा में RSS का ही योगदान: जस्टिस थॅामस

केरल के कोट्टायम में आज संघ के एक कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज के.टी. थॅामस ने आरएसएस की जमकर सराहना करते हुए कहा कि संविधान और आर्मी के बाद देश की सुरक्षा में RSS का ही योगदान।

संविधान और आर्मी के बाद देश की सुरक्षा में RSS का ही योगदान: जस्टिस थॅामस

केरल के कोट्टायम में आज संघ के एक कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज के.टी. थॅामस ने आरएसएस की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि संघ जैसी संस्था के बदौलत ही आज देश सुरक्षित है भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट के जरिये जस्टिस थॅामस के विचारों का शेयर किया है।

यह भी पढ़ें- तीन तलाक पीड़िता ने सरकार से की बड़ी अपील, कही ये बात

जस्टिस थॅामस 80 साल के सेवानिवृत्त जज हैं उन्होंने अपने संबोधन में संघ की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय संविधान, लोकतंत्र और सेना के बाद आरएसएस को एक महान संस्था बताया और कहा कि इसी की वजह से आज देशवासी सुरक्षित हैं।

इसके अलावा थॅामस ने यह भी कहा कि संघ के प्रयासों के फलस्वरूप ही आपातकाल जैसी गंभीर स्थिति से देश को बाहर किया जा सका था।

थॅामस ने अपने संबोधन में बताया कि संघ की शाखाओं में स्वंयसेवकों को अनुशासन की शिक्षा दी जाती है।

इसके साथ ही उन्हें शारीरिक प्रशिक्षण भी दिया जाता है ताकि वे देश और समाज पर होने वाले आक्रमण के समय देश की रक्षा कर सकें।

उन्होंने कहा कि यह संघ की कुशल की रणनीति और संगठित प्रशिक्षण का ही परिणाम था कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को आपातकाल देश से हटाना पड़ा।

गौरतलब है कि जस्टिस थॉमस 1996 में सुप्रीम कोर्ट के जज नियुक्त किये गये थे। न्यायिक क्षेत्र और सामाजिक सुधारों के लिए उल्लेखनीय योगदान के कारण 2007 में उन्हें पद्म भूणण सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

बता दें कि थॉमस ही वह पूर्व जज हैं जिन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर राजीव गांधी के हत्यारों को माफ करने की अपील की थी।

Next Story
Share it
Top