Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राहुल गांधी पर स्मृति ईरानी का करारा पलटवार, कहा- विफल वंशवादी पीएम मोदी पर न उठाएं सवाल

स्मृति ईरानी ने कहा कि 2012 में सोनिया गांधी के हाथों में कमान थी।

राहुल गांधी पर स्मृति ईरानी का करारा पलटवार, कहा- विफल वंशवादी पीएम मोदी पर न उठाएं सवाल

राहुल गांधी के बर्कले यूनिवर्सिटी में दिए भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष का यह कहना अपने आप में एक बहुत बड़ी स्वीकारोक्ति है कि साल 2012 में कांग्रेस में अहंकार आ गया था और उनका इसे चुनाव में पार्टी की हार से जोड़ना कांग्रेस के लिए चिंतन का विषय है क्योंकि इससे वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर तंज कर रहे हैं।

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा, 'एक विफल वंशवादी ने अपनी विफल राजनीतिक यात्रा के बारे में अमेरिका में चर्चा की। भारत में वंशवाद को कोई समर्थन प्राप्त नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसना राहुल गांधी की पुरानी आदत है। यह उनकी नाकाम रणनीति है। देश के लोग पीएम मोदी पर भरोसा करते हैं, राहुल गांधी को देश के पीएम के बारे में ऐसे बयान नहीं देने चाहिए, इससे देश की छवि खबर होती है।'

ईरानी ने कहा, 'वह अंतरराष्ट्रीय मंच पर अपनी राजनीतिक पीड़ा व्यक्त कर रहे थे लेकिन वह भूल गए कि 2014 में वोटर ने वोट के माध्यम से नरेंद्र मोदी में अपना विश्वास व्यक्त किया। वे जिस देश के नागरिक है, उस देश के लोग उनके कथन का समर्थन नहीं कर रहे हैं और इसके बाद अब वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पीड़ा व्यक्त कर रहे हैं।'

स्मृति ने कहा कि लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि इस देश के नागरिक ही वोटर होते हैं और देश के मतदाता अपने वोट के जरिये प्रधानमंत्री मोदी में विश्वास व्यक्त कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि राहुल द्वारा 2012 में कांग्रेस में अहंकार आने की बात कहना बहुत बड़ी स्वीकारोक्ति है। यह कांग्रेस के लिए चिंतन का विषय है क्योंकि इसके जरिए वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी तंज कर रहे हैं क्योंकि उस समय सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्षा थीं।

ये कहा था राहुल ने

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बर्कले यूनिवर्सिटी में मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि आज नफरत और हिंसा की राजनीति हो रही है । हिंसा का मतलब मुझसे बेहतर कौन जान सकता है । हिंसा में मैंने अपने पिता और दादी को खोया है। उन्होंने कहा कि संसद को अंधेरे में रखकर नोटबंदी लाई गई और नोटबंदी से अर्थव्यवस्था में गिरावट आई है।

राहुल का प्रधानमंत्री बनने का सपना

राहुल ने यह भी कहा कि वह प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने को तैयार हैं, अगर पार्टी कहेगी तो जिम्मेदारी लूंगा। राहुल ने वंशवाद पर कहा कि हमारा देश परिवारवाद से ही चलता है. उन्होंने कहा, परिवारवाद पर हमारी पार्टी पर निशाना न साधें, हमारा देश इसी तरह काम करता है। इसमें मैं कुछ नहीं कर सकता हूं। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि 2012 में कांग्रेस पार्टी के अंदर अहंकार भर गया था और पार्टी ने जनता से संवाद कम कर दिया, जिसके चलते लोगों से दूरी बन गई।

Next Story
Top