Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शरद पवार ने राज ठाकरे से कहा, ''कांग्रेस के अच्छे दिन'' आने वाले हैं

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने 11 साल बाद एमएनएस के प्रमुख राज ठाकरे को इंटरव्यू दिया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टी के काम के प्रति अपना नजरिया रखा है।

शरद पवार ने राज ठाकरे से कहा, कांग्रेस के अच्छे दिन आने वाले हैं
X

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) अध्यक्ष शरद पवार ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के प्रमुख राज ठाकरे को 11 साल बाद ओपन इंटरव्यू दिया है। इस इंटरव्यू में उन्होंने कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टी के काम के प्रति अपना नज़रिया रखा है।

ये इंटरव्यू इसलिए भी खास है क्योंकि राज ठाकरे ने उनसे वो सवाल पूछे जिनका उन्होंने दिल खोलकर जवाब दिया। ।

लाइव इंटरव्यू के कुछ खा़स बातें

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस का कैसा भाविष्य हैं?

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के भाविष्य पर पावर ने कहा कि पहले कि जो कांग्रेस से थी वो गांव के मुद्दे तक सिमित थी। अब भी देश में कई ऐसी जगह है जहा विकास कि जरूरत है राहुल गांधी अब इन मुद्दों को समझ रहें है। और अपना एक मजबूत पक्ष रख रहे है। मैं मानता हूं कि आने वाले चुनाव में 'कांग्रेस के अच्छे दिन' आने वाले है।

इसे भी पढ़े :नागालैंड के ट्यूनसांग पहुंचे पीएम मोदी, रैली में कहा- परिवहन से होगा पूर्वोत्तर का परिवर्तन

मनमोहन की चुप्पी पर जवाब

आपको बता दें कि पवार ने यही कांग्रेस कि तारीफों को कम नहीं किया उनसे जब पूछा गया कि क्या, मोदी मनमोहन से ज्यादा चुप्पी लगाते हैं तो उन्होंने साफ कहा कि मनमोहन फैसले लेते थे।

आरक्षण का आधार आर्थिक

इसे भी पढ़े: Love Jihad Case: हादिया मामले पर अब 8 मार्च को होगी सुनवाई, जानें क्या है मामला

इस बीच उन्होंने महाराष्ट्र में आरक्षण पर भी बात करते हुए पावर ने कहा कि आरक्षण को आर्थिक आधार पर दिया जाना चाहिए। महाराष्ट्र में मराठा समुदाय के लोग भी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण को लेकर काफी समय से मांग हो रही है। और ये पवार का वोट बैंक भी है।

पावर ने आरक्षण पर अपनी बात को साफ करते हुए कहा, आरक्षण का मुद्दा काफी संवेदनशील है। इसमें कोई संदेह नहीं कि दलित और आदिवासियों को आरक्षण मिलना चाहिए।

लेकन अलग-अलग जाति के लोग आरक्षण के लिए रैलियां निकाल है तो यह गलत है । मेरा साफ कहना है कि आरक्षण को जाति के आधार पर नहीं बल्कि आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को मिलना चाहिए। चाहे वह किसी भी जाति का हो।

देश में काम करने के लिए मोदी के पास कोई टीम नहीं

गौरतलब है कि सरद पावर जिन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपना राजनीतिक गुरू मानते है उनके लिए पावर ने ये कहां कि मोदी सारी मेहनत खुद ही करना चाहते है। वह एक मेहनती व्यक्ति हैं और वह गुजरात में मुख्यमंत्री के तौर पर अच्छा काम किया है।

लेकिन देश के प्रधानमंत्री होने के नाते देश के अलग-अलग हिस्सों की समस्याएं समझने के लिए एक टीम के साथ काम करने की जरूरत है। मुझे नहीं लगता कि उनके पास ऐसी कोई टीम है। वह खुद ही सब करना चाहते है जो देश के लिए बिल्कुल भी सही नहीं हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story