Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस वजह से 182 मीटर रखी गई सरदार वल्लभ भाई पटेल की ''स्टैच्यू ऑफ यूनिटी'' की ऊंचाई

नर्मदा नदी के किनारे सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई गई है। यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का नाम दिया गया है।

इस वजह से 182 मीटर रखी गई सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की ऊंचाई
X
नर्मदा नदी के किनारे सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई गई है। यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का नाम दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 अक्टूबर को इस प्रतिमा का उद्घाटन करेंगे।
चीन में स्थित स्प्रिंग टेंपल की 153 मीटर ऊंची बुद्ध प्रतिमा अब तक दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति थी। दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा होने के साथ ही ये बातें भी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को बेहद खास बनाती हैं।
  • गुजरात में 182 विधानसभा सीटे हैं। इसकी वजह से प्रतिमा की ऊंचाई भी 182 मीटर रखी गई है।
  • यह प्रतिमा 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं को झेल सकती है।
  • इस प्रतिमा को 1999 में पद्मश्री से सम्मानित रामवनजी सुतार ने डिजाइन किया है। इनके डिजाइन से करीब 50 से ज्यादा स्मारकों का निर्माण हुआ है।
  • इस प्रतिमा के 3.5 किलोमीटर पर ही सरदार सरोवर बांध स्थित है। जो इस जगह को मनमोहक बना देता है।
  • मूर्ति के अंदर एक लिफ्ट है। जो सरदार पटेल के हृदय तक जाएगी। यह से पर्यटक 12 किलोमीटक तक का नजारा देख सकेंगे।
  • 200 लोग सरदार पटेल के हृदय के पास बने गैलरी में आ सकते हैं।
  • इस मूर्ति को बनाने में 989 करोड़ रुपये की लागत आई है।
  • प्रतिमा को बनाने में 18 हजार 500 टन स्टील नींव में और 6500 टन स्टील मूर्ति के ढांचे में इस्तेमाल किया गया है।
  • मुंबई के अरब सागर में 190 मीटर शिवा स्माकर बन रहा है। माना जा रहा है यह तीन साल में बन जाएगा। इस हिसाब से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी सिर्फ तीन सालों तक ही दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति रहेगी।
  • यह मूर्ति चीन की एक कंपनी ने बनाया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story