Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मोदी केबिनेट में हो सकते हैं ये नए चेहरे, अमित शाह ले रहे मंत्रियों का इंटरव्यू

अमित शाह ने उपेंद्र कुशवाहा और राजीव रूढ़ी से बंद कमरे में की थी बातचीत।

मोदी केबिनेट में हो सकते हैं ये नए चेहरे, अमित शाह ले रहे मंत्रियों का इंटरव्यू

केंद्रीय केबिनेट की संभावित फेरबदल के चक्कर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपना तय शुदा चेन्नई दौरा दूसरी बार अंतिम समय में टाल दिया। उधर शाह की शानदार आगवानी के लिए दक्षिण राज्यों के प्रभारी मुरलीधर राव चेन्नई में कैंप कर रहे थे।

मगर, समीकरण बदला तो भाजपा अध्यक्ष के कार्यक्रम में भी संशोधन हुआ। भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों की बैठक से पहले केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूढ़ी और उपेंद्र कुशवाहा से भाजपा अध्यक्ष ने वन-टू-वन अकेले में चर्चा की।

इसे भी पढ़े:- तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का फैसाल कल, 5 जजों की संवैधानिक बेंच सुनाएगी आदेश

भाजपा मुख्यालय से लेकर नॉर्थ ब्लाक तक सोमवार को सर्वाधिक चर्चा का विषय प्रधानमंत्री की नई टीम के स्वरूप को लेकर रही। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अगले हफ्ते मंत्रिमंडल में गठबंधन दल के नेताओं को समायोजित करने की बैठक में शामिल होने को न्यौता भेजा गया है।

इसलिए कयास लगाए जा रहे हैं कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ शीघ्र ही मंत्रिमंडल फेरबदल के लिए तारीख मुकर्रर करने को लेकर मंत्रणा की जाएगी।

कुछ मंत्रियों पर गाज गिरना तय

इस हफ्ते नरेंद्र मोदी केबिनेट में फेरबदल और विस्‍तार होने की संभावना जताई जा रही है। सूत्रों की माने तो इस कड़ी में भाजपा के कुछ मंत्रियों को बाहर का रास्ता भी दिखाया जा सकता है। वहीं केबिनेट विस्तार में जेडीयू और एआईएडीएमके पार्टियों से मंत्री बनाए जा सकते हैं।

उल्‍लेखनीय है कि हाल ही में नीतीश कुमार की जेडीयू ने फिर से भाजपा के साथ नाता जोड़ते हुए भाजपा के नेतृत्‍व वाले एनडीए में शामिल होने की घोषणा की है। लिहाजा जदयू के सदस्यों को मंत्रिमंडल में जगह दी सकती है।

इसे भी पढ़े:- बैंक का हर काम आज लें निपटा, जानिए- अपने काम की हर बात

इसके साथ ही सोमवार को एआईएडीएमके के पनीरसेल्‍वम और पलानीस्‍वामी गुट के बीच समझौता हो गया है। एकजुट होने के बाद इस पार्टी के भी एनडीए में शामिल होने की उम्‍मीद जताई जा रही है।

एआईएडीएमके, जदयू और शिवसेना के नए नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की संभावना है। कुछ मंत्रियों के विभागों में फेरबदल होगा तो कुछ से अतिरिक्त मंत्रालय का प्रभार लिया जाएगा।

Next Story
Share it
Top