Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राज्यसभा में पहली बार बोले अमित शाह, कहा- बेरोजगारी से पकोड़े बेचना बेहतर

अमित शाह ने राज्यसभा में कहा- देश में बेरोजगारी है तो इसके लिए कांग्रेस का 55 साल का शासन जिम्मेदार है।

राज्यसभा में पहली बार बोले अमित शाह, कहा- बेरोजगारी से पकोड़े बेचना बेहतर

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा में मोदी सरकार की साढ़े तीन साल की उपलब्धियों को गिनाते हुए ‘पकौड़ा प्रकरण' से लेकर ‘गब्बर सिंह टेक्स' तक, कांग्रेस सहित समूचे विपक्ष के उन तमाम आरोपों का सिलसिलेवार जवाब दिया, जिनका सार्वजनिक तौर पर लगातार मखौल उड़ाया जा रहा है।

शाह ने उच्च सदन में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पेश करते हुए कालेधन की धरपकड़ के लिए एसआईटी के गठन संबंधी सरकार के पहले फैसले से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक, जीएसटी और नोटबंदी जैसे तमाम साहसिक फैसलों का जिक्र किया। उज्ज्वला योजना, स्वच्छ भारत अभियान और पीएम स्वास्थ्य योजना सहित जनहित की अनेक योजनाओं को देश में क्रांतिकारी बदलाव का वाहक बताया।

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार ला रही है ये दो नए Tax , जानें कैसे आप पर पड़ेगा इसका असर

लगभग करीब सवा घंटे के राज्यसभा में अपने पहले भाषण में शाह ने मोदी सरकार की योजनाओं का मजाक बनाने वाले कांग्रेस के आरोपों का करारा जवाब देते हुए कहा कि सरकार की कार्यपद्धति, योजनाओं का परिणाम और सामजिक बदलाव के दावों की स्वीकार्यता का परीक्षण जनता की अदालत में होता है।

उन्होंने कहा ‘सत्तापक्ष का काम अपनी उपलब्धियां बताना है और विपक्ष हमेशा सरकार के कामों की कमियां उजागर करता है, लेकिन दोनों के दावों की सच्चाई और स्वीकार्यता की अंतिम कसौटी जनादेश होता है।

इसे भी पढ़ें- नौ फरवरी से 3 देशों की यात्रा पर जाएंगे PM मोदी, फिलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री

शाह ने मोदी सरकार बनने के बाद हरियाणा से लेकर उत्तर प्रदेश और गुजरात तक एक के बाद एक राज्य में भाजपा की जीत को केन्द्र के कामों की जनता में स्वीकार्यता का सबूत बताया।

साथ ही उन्होंने तमाम अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसियों की रिपोर्टों में भारत का लगातार ऊपरी पायदान पर आने की भी दलील दी। शाह ने ‘गब्बर सिंह टैक्स' से लेकर तीन तलाक विधेयक के ‘विरोध' को लेकर कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए इन्हें देश की भलाई के लिये किए गए कठोर और साहसिक फैसले बताया।

उन्होंने कहा पहले सरकारें वही फैसले लेती थीं जो लोगों को अच्छे लगते थे। लेकिन मोदी सरकार लोगों को अच्छे लगने वाले फैसले नहीं लोगों के लिये अच्छे फैसले कर रही है।

मखौल का ऐसा जवाब

शाह ने विपक्ष द्वारा रोजगार के मामले में प्रधानमंत्री मोदी के पकौड़े बेचने वाली दलील का मजाक उड़ाने की तीखी आलोचना करते हुए कहा ‘पकौड़े बनाना शर्म की बात नहीं है बल्कि उनकी तुलना भिखारी से करना शर्म की बात है।'

उल्लेखनीय है कि हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने एक साक्षात्कर में कहा था कि पकौड़े बेचने वाले को बेरोजगार नहीं कहा जा सकता है। विपक्ष ने उनके इस बयान का मखौल उड़ाया था।

गब्बर सिंह टैक्स

जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स' बताए जाने की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि देश में सभी राज्यों की सहमति से लगाए गए इस कर को डकैती कहना कहां तक सही है? शाह ने कहा कि जीएसटी से न केवल देश की अर्थव्यवस्था बेहतर होगी बल्कि छोटे एवं मझौले कारोबारी भी मजबूत होंगे।

ये तीन बड़े नासूर

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार बनने से पहले तक ‘वंशवाद, जातिवाद एवं तुष्टिकरण' तीन सबसे बड़े नासूर बन गए थे। शाह ने कहा ‘उत्तर प्रदेश और गुजरात चुनाव के बाद मैं भरोसे से कह सकता हूं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की यह बड़ी उपलब्धि है कि देश के लोकतंत्र से वंशवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण को उखाड़ कर फेंक दिया गया है।

मोदी सरकार की उपलब्धि

शाह ने अंत्योदय योजना, जनधन योजना, उज्ज्वला योजना, प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, स्वच्छता एवं शौचालय निर्माण, ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंचाने, सौभाग्य योजना, बीमा योजना सहित मोदी सरकार की तमाम योजनाओं की फेरिस्त गिनाई।

Share it
Top