Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

वीवीपैट का इस्तेमाल सबसे पहले इस राज्य में हुआ, अबतक इन राज्यों हो चुके हैं इससे चुनाव

भारत में वीवीपैट मशीन का सबसे पहले इस्तेमाल 2013 में नागालैंड की नोकसेन सीट के उपचुनाव में हुआ था।

वीवीपैट का इस्तेमाल सबसे पहले इस राज्य में हुआ, अबतक इन राज्यों हो चुके हैं इससे चुनाव

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की बंपर जीत के बाद कई विपक्षी नेताओं ने ईवीएम में गड़बड़ी के बाद वीवीपैट सुर्खियों में आया। जिसके बाद आम आदमी पार्टी समेत कई राजनीतिक दलों ने वीवीपैट के इस्तेमाल की मांग कर दी।

वीवीपैट इस्तेमाल करने वाला पहला राज्य

भारत में वीवीपैट मशीन का सबसे पहले इस्तेमाल 2013 में नागालैंड की नोकसेन सीट के उपचुनाव में हुआ था। बाद में कई छोटे चुनावों में वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया।

यह भी पढ़ें: जेपी ग्रुप को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, संशोधन की मांग को किया खारिज

वीवीपैट इस्तेमाल करने वाला दूसरा राज्य

बता दें कि इसी साल फरवरी 2017 में गोवा पहला ऐसा राज्य बना, जिसमें विधानसभा चुनाव के दौरान सभी सीटों पर वीवीपैट मशीन का इस्तेमाल किया गया। बाद में चुनाव आयोग ने साफ किया था कि वो गोवा में वीवीपैट की पर्चियों को गिनती के दौरान इस्तेमाल नहीं करेगा।

किसने बनाई ये मशीन

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने वीवीपैट मशीन को साल 2013 में बनाया था। सबसे पहले इसका इस्तेमाल नागालैंड के उप चुनाव में उसी साल टेस्ट के तौर पर किया गया। क्योंकि इसकी पर्चियों को काउंट नहीं किया गया था।

ये मशीन कैसे करती है काम

वोटर डालने के बाद काग़ज की एक पर्ची बनती है। इस पर जिस उम्मीदवार को वोट दिया गया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न होता है। इस तरह चुनाव में पारदर्शिता रहती है और अगर विवाद होता भी है तो ईवीएम में पड़े वोट के साथ पर्ची का मिलान कर बताया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: पैराडाइज पेपर्स में घिरे पीएम मोदी के मंत्री, जयंत सि‍न्‍हा ने दी कुछ इस तरह सफाई

5 राज्यों के विधानसभा में भी वीवीपैट का हुआ इस्तेमाल

जानकारी के लिए बता दें कि बीईएल ने साल 2016 में 33,500 वीवीपैट मशीन बनाईं थी, जिनका इस्तेमाल 2017 में हुए गोवा चुनाव के दौरान किया गया था। इसके अलाला इसी साल हुए पाच राज्यों के विधानसभा चुनावों में भी चुनाव आयोग ने 52 सौ वीवीपैट मशीनों का का इस्तेमाल किया था।

साल 2019 का चुनाव वीवीपैट से होगा

चुनाव आयोग ने जून 2014 में तय किया किया अगले चुनाव यानी साल 2019 के चुनाव में सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपैट का ही इस्तेमाल किया जाएगा।

Next Story
Share it
Top