Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरल पहुंचा मानसून, दक्षिण भारत समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई झमाझम बारिश

दक्षिण पश्चिम मानसून ने सोमवार को केरल में दस्तक दे दी है। स्काइमेट के अनुसार केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून के दस्तक के साथ ही देश में बरसात का मौसम शुरू हो गया है।

केरल पहुंचा मानसून, दक्षिण भारत समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई झमाझम बारिश

दक्षिण पश्चिम मानसून ने सोमवार को केरल में दस्तक दे दी है। इस बात का दावा मौसम से जुड़े पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी स्काइमेट ने किया है। स्काइमेट के अनुसार केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून के दस्तक के साथ ही देश में बरसात का मौसम शुरू हो गया है।

आपको बता दे कि स्काइमेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जतिन सिंह ने बताया कि केरल में मानसून की जैसी हालत है उससे हम कह सकते है कि सालाना बारिश के मौसम की शुरुआत हो चुकी है। इससे पहले भी स्काईलाइट ने मानसून के 28 मई को केरल पहुंचने का दावा किया था।

लेकिन इसके विपरीत मौसम विभाग ने मानसून के केरल पहुंचने की तारीख आज यानी 29 मई निर्धारित की थी। इस सब दावों के बीच केरल के कई इलाकों में सोमवार सुबह से ही बारिश हो रही हैं। अक्सर देखा गया है कि मानसून केरल में हमेशा से ही 1 या 2 जून तक ही दस्तक देता आया है।

मौसम विभाग के अनुसार अगर केरल और उससे सटे दूसरे राज्यों में 14 मौसम केंद्रों में 60 फीसदी पर दो दिन लगातार 2.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की जाती है तो यह मान लिया जाता है कि मानसून ने केरल में दस्तक दे दी है।

बिहार और उत्तराखण्ड समेत यहां हुई झमाझम बारिश

केरल के अलावा इसी बीच देश के अलग-अलग इलाकों में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है। बिहार के पूर्णिया, सिपाही टोला, मधुबनी आदि इलाकों में सोमवार शाम को बारिश होने से काफी राहत मिली।

बारिश के बाद तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं अगर बात करे उत्तराखण्ड की तो कल शाम को नैनीताल और हलद्वानी में तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश हुई।

बारिश के कारण कई पेड़ टूट कर सड़को पर गिर गए जिसके कारण यातायात काफी समय के लिए बाधित रहा। लेकिन स्थानीय लोगों ने इस बारिश का स्वागत किया है क्योंकि बारिश के कारण पहाड़ों पर तापमान में गिरावट आई है। और इसके साथ ही उत्तराखण्ड के जंगलो में लगी भयंकर आग को बुझाने में भी यह बारिश मददगार साबित होगी।

Next Story
Top