Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

PM Narendra Modi Interview Video: नए साल 2019 में पीएम मोदी का पहला इंटरव्यू

आज से नए साल 2019 (Happy New Year 2019) का आगमन हो गया है, नव वर्ष के पहले ही दिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू (PM Narendra Modi Interview) भी सामने आ गया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने समाचार एजेंसी ऐेेएनआई (ANI) को इंटरव्यू दिया, जिसमें नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं (Happy New Year 2019 Wishes) देते हुए कई खुलासे किए।

PM Narendra Modi Interview Video: नए साल 2019 में पीएम मोदी का पहला इंटरव्यू

PM Narendra Modi Interview (मोदी इंटरव्यू)

आज से नए साल 2019 (Happy New Year 2019) का आगमन हो गया है, नव वर्ष के पहले ही दिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू (PM Narendra Modi Interview) भी सामने आ गया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने समाचार एजेंसी ऐेेएनआई (ANI) को इंटरव्यू दिया, जिसमें नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं (Happy New Year 2019 Wishes) देते हुए कई खुलासे किए।

पीएम मोदी ने कहा कि कानून के द्वारा बनेगा राम मंदिर, राम मंदिर पर अध्यादेश नहीं आएगा, कानूनी प्रक्रिया के बाद अध्यादेश पर विचार किया जाएगा।। उन्होंने कहा कि भाजपा के घोषणा पत्र में यह साफ कहा गया है कि कानून के दायरे में राम मंदिर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस राम मंदिर के मुद्दे पर कांग्रेस रोड़ा लगा रही है।

2019 के चुनाव में लड़ाई किस-किस के बीच होगी? इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi Latest Interview) ने कहा कि गठबंधन और मोदी की लड़ाई नहीं है। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए जो गठबंधन हुआ है वह 'जनता' बनाम 'गठबंधन' है। मोदी के साथ जनता का प्यार और आशीर्वाद है।

डिमोनेटाइजेशन (नोटबंदी) के सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि यह एक jhatka नहीं था। हमने एक साल पहले लोगों को आगाह किया था कि अगर आपके पास इतनी दौलत (काला धन) है, तो आप इसे जमा कर सकते हैं, जुर्माने का भुगतान कर सकते हैं और आपकी मदद की जाएगी। फिर भी, उन्होंने सोचा कि मोदी भी दूसरों की तरह व्यवहार करेंगे, इसलिए बहुत कम ही स्वेच्छा से आगे आए।

उर्जित पटेल ने राजनीतिक दबाव में इस्तीफा दिया? पूर्व RBI गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे पर उन्होंने कहा कि RBI के पूर्व गवर्नर अपने व्यक्तिगत कारणों से इस्तीफा देना चाहते थे। मैं यह पहली बार बताना चाहूंगा कि इस्तीफे से करीब 6 महीने पहले उन्होंने बताया था। उन्होंने लिखित में इस बात की सूचना दी थी। किसी भी तरह के राजनीतिक दबाव का कोई सवाल ही नहीं उठता। उन्होने RBI गवर्नर के रूप में एक बेहतरीन काम किया है।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान से सीमा पर हमले पर पीएम मोदी ने कहा कि एक लड़ाई से पाकिस्तान सुधर जाएगा, यह सोचना बहुत बड़ी गलती होगी, पाकिस्तान को सुधरने में अभी और समय लगेगा।

गांधी परिवार ने इस देश में सबसे पहले राज करना शुरू किया। अब उन्होंने इस देश में इतना भ्रष्टाचार किया है कि पूरा परिवार जमानत पर बाहर है। यह बहुत बड़ी बात है। कुछ लोग हैं जो उन्हें अभी भी बचाना चाहते हैं।

मध्यम वर्गीय लोग केवल टैक्स देते हैं लेकिन उन्हें कोई लाभ नहीं मिलता इस पर पीएम मोदी ने कहा कि मिडिल क्लास के लिए हम हमेशा काम करते हैं। हम किसी एक परिवार को देख कर नहीं बल्कि पूरे मिडिल क्लास को देख कर करते हैं।

किसानों के मुद्दे पर पीएम मोदी जितना बोलते हैं उतना नहीं करते?

किसानों के मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा कि किसानों को केवल भ्रमित किया जाता है। कर्जमाफी हमने नहीं की हम मानते हैं। लेकिन चुनाव जीतने के लिए हम कर्जमाफी का मुद्दा नहीं चाहते। हम किसान को मजबूत बनाना चाहते हैं। हमारी सरकार ने बेहतर बीज उपलब्ध करवाए हैं। लाखों करोड़ो की सिंचाई योजना से हमने किसानों के खेत में पानी पहुंचाया है। कांग्रेस ने केवल किसान कर्जमाफी वोट के लिए किया है। हम चाहते हैं किसान को सबल बनाया जाए कि कर्ज ही न हो। अन्नदाता को हम ऊर्जा दाता बनाना चाहते हैं।

मुसलमान अपने-आप को हिंदुस्तान में महफूज नहीं समझता?

गाय के नाम पर किसी की हत्या निंदनीय है। सभी की भावनाओं का आदर करना चाहिए। दुनिया में अरब के एक मुस्लिम ने लिखा था कि हमें भारत से सीखना चाहिए कि कैसे कई धर्मों के लोग मिल जुल कर रहते हैं। वहीं हम अरब में एक ही संप्रदाय के लोग हैं और मार काट मची है। हमारा एजेंडा है 'सबका साथ-सबका विकास'। हमने उज्जवला योजना में हर घर में गैस सिलेंडर पहुंचाने का फैसला लिया। उसमें धर्म नहीं देखा। बाकी जहां तक किसी (नसीरउद्दीन शाह) के डर लगने की बात है तो हर चुनाव से पहले कुछ लोगों को डर लगने लगता है। असहिष्णुता दिखने लगती है।

ट्रिपल तलाक और सबरीमाला मुद्दे पर आपका स्टैंड क्या है

ट्रिपल तलाक धार्मिक मुद्दा नहीं है। अगर धार्मिक मुद्दा होता है तो कई इस्लामिक देश इसे खत्म न करते। जबकि सबरीमाला एक धार्मिक मुद्दा है। किसी मंदिर का नियम है कि वहां सिर्फ पुरुष जा सकते हैं। या सिर्फ महिलाएं जा सकती हैं। तो वह मंदिर का नियम है। इसे ज्यादा समझने के लिए इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट की महिला जज के फैसले को पढ़ना चाहिए। जो मंदिर में 10 से 50 साल की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश के खिलाफ थीं।

भाजपा सरकार ने सरकारी संस्थाओं को कमजोर किया है?

कांग्रेस को इस बारे में बोलने का कोई अधिकार नहीं है। जितना मजाक कांग्रेस ने देश की संस्थाओं के साथ किया है उतना किसी ने नहीं किया है। जहां तक सीबीआई की लड़ाई का मामला है। सरकार नहीं चाहती थी कि सीबीआई की छवि खराब हो इस लिए दोनों अधिकारियों को छुट्टी पर भेजा गया। जबकि गवर्नर ने खुद अपने पद से इस्तीफा दिया है। मिशेल को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता वकील बन कर मदद करने के लिए पहुंचे यह चिंता की बात है।

राफेल को ज्यादा दाम पर खरीदा गया

कांग्रेस जो भी आरोप लगा रही है। मैं इसके बारे में विस्तार से बताता आया हूं। फ्रांस के राष्ट्रपति ने बयान दे दिया है। मैने जवाब दिया है। अब उन्हें बोलने की बीमारी है तो क्या मैं जवाब देता रहूं। आजादी के बाद हमेशा डिफेंस डील विवादों में रही है। कांग्रेस के समय दलालों से काम होता था। क्या जरूरत थी। मैं मेक इन इंडिया चाहता हूं ताकि बाहरी सौदेबाजी बंद हो। ये लोग सेना को दुर्बल बनाना चाहते हैं। आरोप लगाकर भाग जाते हैं। मुझे जितनी गालियां मिलेंगी सुनूंगा। मैं ईमानदारी और सत्य से जीने वाला इंसान हूं। इस लिए आरोपों से डर कर देश की सेना को कमजोर नहीं कर सकता।


पाकिस्तान के साथ चर्चा को तैयार

हमने दुनिया में पाकिस्तान के खिलाफ और आतंकवद के खिलाफ एक माहौल बनाया है। हम हर चीज पर चर्चा कर सकते हैं। लेकिन बम बंदूक छोड़ कर पाकिस्तान बात करे।


आप इतनी यात्राएं क्यों करते हैं

अपनी यात्राओं पर पीएम मोदी ने कहा कि पहले के पीएम जब जाते थे तब पता भी नहीं चलता था। और जहां जाते थे वहां के लोगों को भी नहीं पता चलता। देखा जाए तो आज इतने संगठन बन गए हैं कि वहां जाना ही पड़ता है। और प्रधानमंत्री से नीचे का कोई जाता है तो हमारी आवाज दब जाती है। इस लिए मुझे जाना पड़ता है।

संसद में चर्चा हो

संसद में चर्चा होनी चाहिए। बहस के मंथन से अमृत निकलता है। संसद का काम है कि व्यवस्था पर दबाव बने। हम चाहते हैं कि संसद में सभी सांसदों को बोलने का मौका मिले।

अपने कार्यकाल में किस काम से आप संतुष्ट है?

यह काम मैं जनता पर छोड़ देता हूं। वो ये बताएं कि मेरा कार्यकाल कैसा रहा। प्रधानमंत्री के नाते देश के लिए काम करने में मुझे हर पल आनंद आया है। मैं देश के लोगों को एक बार फिर से नव वर्ष की बधाई देना चाहता हूं।
Next Story
Share it
Top