Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

EPFO ने उमंग एप के जरिए दी ई-सेवाएं, जानें पीएफ अकाउंट में पेंशन बैलेंस

ईपीएफओ ने अपने अंशधारकों को ई-सेवाएं मुहैया कराने की दिशा में अब ‘उमंग एप’ के जरिए एक नई सेवा शुरू की है, जिसमें पेंशनभोगी कर्मचारियों के लिए ‘व्‍यू पासबुक’ यानि विवरण देखने के अलावा उसे डाउनलोड करना भी आसान होगा।

EPFO ने उमंग एप के जरिए दी ई-सेवाएं, जानें पीएफ अकाउंट में पेंशन बैलेंस

ईपीएफओ ने अपने अंशधारकों को ई-सेवाएं मुहैया कराने की दिशा में अब ‘उमंग एप’ के जरिए एक नई सेवा शुरू की है, जिसमें पेंशनभोगी कर्मचारियों के लिए ‘व्‍यू पासबुक’ यानि विवरण देखने के अलावा उसे डाउनलोड करना भी आसान होगा।

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अपने सदस्‍यों अथवा हितधारकों को विभिन्न तरह की ई-सेवाएं मुहैया कराने वाले कर्मचारी भविष्य नि‍धि संगठन (ईपीएफओ) ने अब ‘उमंग एप’ के जरिए एक नई सेवा शुरू की है।

यह भी पढ़ेंः भारत में दुकाती ने उतारा अपना मॉन्सटर 821, देगा ट्रांयस और यामाहा को कड़ी टक्कर, जानिए इसकी कीमत और फीचर्स

व्‍यू पासबुक विकल्प को क्लिक करने पर संबंधित पेंशनभोगी को पीपीओ नंबर और अपने जन्‍मदिन को दर्ज करना पड़ता है। इन जानकारियों का सफल सत्‍यापन हो जाने के बाद संबंधित पेंशनभोगी के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।

इस ओटीपी को दर्ज करने के बाद ‘पेंशनर पासबुक’ संबंधित पेंशनभोगी के विवरण जैसे कि उसके नाम, जन्‍मदिन और उसके खाते में डाली गई पिछली पेंशन रकम से संबंधित जानकारियां दर्शाने लगेगी। वित्त वर्ष के हिसाब से संपूर्ण पासबुक विवरण डाउनलोड करने की सुविधा भी उपलब्ध है।

यह भी पढ़ेंः अब 'उमंग एप' के जरिये पेंशनभोगी देख सकेंगे अपना पासबुक

आसान हुई ई-सेवाएं

मंत्रालय के अनुसार ईपीएफओ ने पीएफ धारकों और पेंशनरों को राहत देने की दिशा में कई ई-सेवाएं शुरू की है ,जिसमें कई सुविधाएं उमंग एप के जरिए पहले से ही उपलब्ध हैं। ई-सेवाओं के जरिए ईपीएफ पासबुक देखने, क्‍लेम करने, क्‍लेम पर नजर रखने जैसी सेवाएं कर्मचारी और नियोक्‍ता दोनों के लिए आसान हुई हैं।

ईपीएफओ द्वारा प्रदान की गई केन्द्रित सेवाओं के लिए प्रतिष्‍ठान की आईडी के जरिए भेजी गई रकम का विवरण प्राप्त करना, टीआरआरएन की ताजा स्थिति जानना, सामान्य सेवाएं भी आसानी से सर्च की जा सकती हैं।

ईपीएफओ कार्यालय को सर्च करें, अपने क्‍लेम की ताजा स्थिति से अवगत हों, एसएमएस के जरिए खाते का विवरण प्राप्‍त करना, मिस्ड कॉल देकर खाते का विवरण प्राप्त करना, पेंशनभोगियों के लिए जीवन प्रमाण को अद्यतन करना जैसी सेवाओं के अलावा ई-केवाईसी सेवाएं या अपने खाते को आधार से जोड़ना भी आसान हुआ है।

Next Story
Top