Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय वायुसेना की और बढ़ी ताकत, भारत पहुंचे तीन राफेल विमान

सरकारी सूत्रों का कहना है कि अप्रैल के महीने में फ्रांस से 7 या 8 राफेल और आने हैं।

भारतीय वायुसेना की और बढ़ी ताकत, भारत पहुंचे तीन राफेल विमान
X

भारतीय एयरफोर्स (India Air Force) की ताकत में और इजाफा हो गया है। फ्रांस (France) से निकले तीन राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Aircraft) बीती देर रात गुजरात (Gujarat) के जामनगर एयरबेस (Jamnagar airbase) पर उतरे है। इस बात की जानकारी समाचार एजेंसी पीटीआई ने दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये लड़ाकू विमान अंबाला (Ambala) में गोल्डन एरो स्क्वाड्रन (Golden arrow squadron) का हिस्सा होंगे।

बता दें कि बीती रात तीन राफेल आते ही, अब हमारे पास 14 लड़ाकू विमान हो गए हैं। फ्रांस से उड़ान भरने के बाद तीनों लड़ाकू विमान यूएई (UAE) के रास्ते होते हुए भारत पहुंचे हैं। रास्ते में यूएई एयरफोर्स (UAE Air Force) की मदद से राफेल विमानों में हवा में ही ईंधन (Fuel) भरा गया।

अप्रैल में और आएंगे विमान

जानकारी के अनुसार, सरकारी सूत्रों का कहना है कि अप्रैल के महीने में फ्रांस से 7 या 8 राफेल और आने हैं। इसके बाद भारत (India) में राफेल लड़ाकू विमानों की संख्या 21 हो जाएगी। अभी 11 लड़ाकू विमाना अंबाला की 17वीं स्क्वाड्रन का हिस्सा हैं। आज जो तीन विमान आए हैं, ये भी अंबाला की 17वीं स्क्वाड्रन का हिस्सा बनेंगे।

जो तीन राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंच रहे हैं, वो M88-3 Safran के डबल इंजन (Double engine) से युक्त हैं। जिनमें स्मार्ट वेपन सिस्टम (Smart weapon system) लगाया गया है, जोकि दुश्मन को मिट्टी में मिला सकते हैं।

ये हैं राफेल की खासियत

राफेल की खासियत की बात करें तो यह लड़ाकू विमान बहुत ही एडवांस है। लड़ाकू विमान राफेल चौथी पीढ़ी का फाइटर जेट है। यह एक नहीं बल्कि कई रोल निभाने में सक्षम कॉम्बैट फाइटर जेट है। यह ग्राउंड सपोर्ट से लेकर डेप्थ स्ट्राइक और एंटी शिप अटैक में सक्षम है। इसकी ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह 9500 किलोग्राम भार उठाने में सक्षम है। राफेल अधिकतम 24500 किलोग्राम वजन के साथ उड़ान भर सकता है। इसकी रफ्तार 1389 किमी प्रति घंटा है।

Next Story