logo
Breaking

Exit Poll 2019: चुनाव आयोग का फरमान, कहा- एग्जिट पोल संबंधी सभी ट्वीट हटाए जाएं, जानें क्या है नियम

लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार तेजी से हो रहा है और 19 मई को मतदान होने के बाद शाम को सभी न्यूज चैनल अपने अपने एग्जिट पोल जारी कर देंगे। इस बार एग्जिट पोल को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फरमान सुनाया है।

Exit Poll 2019: चुनाव आयोग का फरमान, कहा- एग्जिट पोल संबंधी सभी ट्वीट हटाए जाएं, जानें क्या है नियम

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) के अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार तेजी से हो रहा है और 19 मई को मतदान होने के बाद शाम को सभी न्यूज चैनल अपने अपने एग्जिट पोल (Exit Polls) जारी कर देंगे। इस बार एग्जिट पोल को लेकर चुनाव आयोग (Election Commission) ने बड़ा फरमान सुनाया है।

चुनाव आयोग का फरमान

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चुनाव आयोग को शिकायत मिली थी कि चुनाव के दौरान एग्जिट पोल दिखए गए हैं। जिसको लेकर आयोग ने निर्देश देते हुए कहा कि एग्जिट पोल संबंधी सभी ट्वीट हटाए जाएं।

एक अधिकारी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि आयोग की तरफ से कोई फरमान नहीं सुनाया गया है। लेकिन अगर नियम की बात करें तो चुनाव के दौरान कोई भी मीडिया हाउस एग्जिट पोल नहीं दिखा सकता है और ना ही एग्जिट पोल के सर्वे को दिखा सकता है।

तीन मीडिया हाउस को नोटिस जारी

उन्होंने कहा कि हमारे पास एक मामला आया था। लेकिन बाद में यूजर ने उस एग्जिट पोल को हटा दिया। इस मामल में 3 मीडिया हाउस को नोटिस भी जारी किया जा चुका है। जानकारी के लिए बता दें कि इंडिया टुडे का एग्जिट पोल लीक हुआ है।

ये है नियम

एग्जिट पोल को लेकर रिप्रेजेंटेशन ऑफ द पीपुल एक्ट की धारा 126ए के अनुसार कोई भी मीडिया हाऊस या व्यक्ति किसी भी तरह का एग्जिट पोल नहीं दिखा सकता है। वोटिंग के आधे घंटे के बाद आप एग्जिट पोल दिखा सकते हैं। अगर एग्जिट पोल दिखाया जाता है तो आयोग की तरफ से नोटिस जारी किया जाता है और सख्त कार्रवाई की जाती है। नियम तोड़ने पर 2 साल तक की जेल हो सकती हैं साथ ही जुर्माना भी देना पड़ता है। 19 मई 2019 को चुनाव का अंतिम चरण खत्म हो जाएगा।सातवें चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा।

Share it
Top