Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आईटीबीपी के स्‍थापना दिवस पर गृह मंत्री ने दिया कड़ी सुरक्षा का संदेश, पीएम ने दी बधाई

हिमालय के साथ विशेष संबंध और ऊंचाई वाले अभियानों में अपनी दिलेरी के लिए आईटीबीपी का विशेष स्थान है।

आईटीबीपी के स्‍थापना दिवस पर गृह मंत्री ने दिया कड़ी सुरक्षा का संदेश, पीएम ने दी बधाई

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस 'आईटीबीपी' के 56वें स्थापना दिवस पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर 50 नई आईटीबीपी बॉर्डर आउटपोस्‍ट बनाने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है।

बता दें कि इस वर्तमान समय में भारत-चीन बॉर्डर पर 176 चौकियां मौजूद हैं। इसके अलावा गृह मंत्री ने कहा आईटीबीपी के जवानों को ट्रेनिंग के दौरान ही मैंडेरिन भाषा का ज्ञान दिया जा रहा है। ताकि चीन के साथ होने वाली तनातनी के दौरान आसानी से बातचीत की जा सके।

यह भी पढ़ें- भाजपा के अन्याय से सहमी मायावती, कहा- हिन्दू धर्म त्याग कर अपना लूंगी 'बौद्ध धर्म'

आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे राजनाथ सिंह ने बताया कि बॉर्डर आउट पोस्‍ट्स से अरुणाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड और हिमाचल प्रदेश को जोड़ने की योजना है। इसके लिए इन क्षेत्रों में 25 नई सड़कें भी बनाई जाएंगी। आइटीबीपी के डीजी आरके पचनन्दा ने बताया कि जल्‍द ही आइटीबीपी एक इंटेलिजेंस स्‍कूल भी जल्‍द खोलने जा रही है।

पीएम मोदी ने 'आईटीबीपी' के 56वें स्थापना दिवस पर अपनी शुभकामनाएं देते हुआ कहा कि आइटीबीपी परिवार को उसके स्थापना दिवस पर बधाई। पीएम ने कहा आईटीबीपी ने अपने साहस और मानवीय मूल्यों के जरिए अपनी खास पहचान बनाई है।

यह भी पढ़ें- पिता की हैवानियत, चलती ट्रेन से तीन मासूम बेटियों को फेंका- एक की मौत

हिमालय के साथ विशेष संबंध और ऊंचाई वाले अभियानों में अपनी दिलेरी के लिए आईटीबीपी का विशेष स्थान है। बताते चले कि आइटीबीपी का स्‍थापना 24 अक्टूबर 1962 को हुई थी। और वर्तमान में यह बल लद्दाख के कराकोरम दर्रे से लेकर अरुणाचल प्रदेश के जाचेप ला तक 3488 किलोमीटर लंबी भारतीय सीमा की रक्षा के लिए तैनात है।

Next Story
Share it
Top