Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदी के एक साल: ये हुए 5 बड़े फायदे

नोटबंदी को आज एक साल पूरा हो गया है, इसी के साथ इस बात पर चर्चा तेज है कि आखिर नोटबंदी से देश को क्या हासिल हुआ।

नोटबंदी के एक साल: ये हुए 5 बड़े फायदे
X

नोटबंदी को आज एक साल पूरा हो गया है। इसी के साथ इस बात पर चर्चा तेज है कि आखिर नोटबंदी से देश को क्या हासिल हुआ। सरकार ने नकली करंसी, आतंकवाद, कालाधन, और कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देना नोटबंदी की वजह बताया था। तो आइए जानते हैं नोटबंदी से हुए 5 बड़े फायदे..

होम लोन हुआ सस्ता

होम लोन के ब्याज दर में तीन प्रतिशत तक की गिरावट हुई है। कैपिटल सिंडिकेट के मैनेजिंग पार्टनर सुब्रमण्यम पशुपति का कहना है कि नोटबंदी के बाद होम लोन सस्‍ता हुआ है। क्योंकि नोटबंदी से बैंकों में काफी बड़ी मात्रा में पैसा डिपॉजिट हुआ है।

पिछले साल हाउसिंग दरें 10.5 फीसदी से लेकर 12 फीसदी तक थीं, लेकिन अब ये 8-9 फीसदी हो गई है।

महंगाई पर लगाम

नवंबर 2016 में महंगाई दर 3.63 प्रतिशत थी, जो जुलाई 2017 में घटकर 2.36 प्रतिशत हो गई। निवेश सलाहकार सुब्रमण्यम पशुपति का कहना है कि नोटबंदी के बाद सरकार की तरफ से लगातार संदिग्‍ध ट्रांजेक्‍शन पर नजर रखी जा रही है, इसकी वजह से इन ट्रांजेक्‍शन्स में कमी आई है। जिसका फायदा महंगाई दर घटने के रूप में मिला।

कैशलेस ट्रांजेक्शन बढ़ा

नोटबंदी के बाद से कैशलेश ट्रांजेक्‍शन काफी बढ़ा है। नोटबंदी के बाद कैश की किल्‍लत के चलते लोगों ने डिजिटल ट्रांजेक्‍शन किए। सरकार ने भी लोगों को डिजीटल ट्रांजेक्‍शन के प्रति प्रोत्‍साहन के लिए कई कदम उठाए।

अक्टूबर में देश में सबसे ज्यादा कैशलेस ट्रांजेक्शन हुआ। क्योंकि इस दिवाली सीजन में लोगों ने डेबिट, क्रेडिट, मोबाइल बैंकिंग से लेकर दूसरे कैशलेस ट्रांजेक्शन के जरिए खरीदारी की।

नोटबंदी के बाद दिसंबर 2016 में 95.7 करोड़ ट्रांजेक्शन हुए थे। जबकि पीएम की वेबसाइट पर ये आंकड़ा 87 करोड़ से बढ़कर 137 करोड़ दिखाया गया है।

कालाधन

नोटबंदी के बाद 1626 करोड़ की बेनामी संपत्ति ज़ब्त हुई। साथ ही 22.23 लाख अकाउंट्स को नोटिस मिला है। वित्त मंत्री ने कई बार अपने भाषणों में कहा है कि नोटबंदी का सबसे बड़ा फायदा कालेधन में हुआ है। जिसके बाद करीब 18 लाख संदिग्ध अकाउंट्स की पहचान हुई है और 2.89 लाख करोड़ रुपए जांच के दायरे में हैं।

आतंकवाद

narendramodi.in के अनुसार, नोटबंदी के बाद से कश्मीर में 75 प्रतिशत पत्थरबाजी की घटनाएं कम हुई हैं और 20% नक्सलवादी हमले भी घटे हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story