Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मतों की गोपनीयता बढ़ाने की तैयारी में चुनाव आयोग, चाहता है नई मशीनें

इस मशीन का नाम होगा टोटलाइजर।

मतों की गोपनीयता बढ़ाने की तैयारी में चुनाव आयोग, चाहता है नई मशीनें
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया चुनावी सुधार बयान पर एक नई पहल सामने आई है। चुनाव आयोग मतगणना के दौरान मतों की गोपनीयता को बढ़ाने के मकसद से नई मशीन का इस्तेमाल करना चाहता है। इस नई मशीन की खासियत होगी कि इसमें बूथवाइज वोटों की मिक्सिंग मशीन में ही संभव हो सकेगी। इस मशीन का नाम होगा टोटलाइजर।
चुनाव आयोग ने विधि मंत्रालय के समक्ष एक प्रस्ताव रखा है कि मतों का एक साथ योग करने वाली (टोटलाइजर) मशीन का इस्तेमाल होना चाहिए । चुनाव आयोग का मानना है कि इस तरह की मशीन के इस्तेमाल से मतदान की गोपनीयता का स्तर बढ़ेगा और मतदान के समय पूरे मतों को एक साथ मिलाना भी संभव होगा। इससे इसका खुलासा नहीं हो सकेगा कि किसी मतदान केंद्र पर किस दर पर मतदान हुआ है। विधि मंत्रालय चुनाव निकाय के लिए प्रशासनिक मंत्रालय है। सरकार ने आयोग के नयी मशीन के इस्तेमाल के प्रस्ताव पर कोई विचारणीय रुख नहीं अपनाया है।
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पिछले सप्ताह राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा कि मतों की गोपनीयता भारतीय लोकतंत्र का मूल तत्व है और इसका निश्चित रूप से निर्धारण होने के बाद ही मतदान अथवा मतगणना में किसी तरह की तकनीकी आधुनिकता पेश की जाएगी। चुनाव आयोग ने कंट्रोल यूनिट और बैलेट यूनिट की खरीद के लिए भी प्रस्ताव भेजा है। आयोग का प्रस्ताव है कि वित्त वर्ष 2014-15 और 2018-19 के बीच 9,30,430 कंट्रोल यूनिट और 13,95,647 बैलेट यूनिट खरीदी जाएं। ईवीएम प्रणाली में अधिकतम चार बैलेट यूनिट और एक कंट्रोल यूनिट होती है। दोनों एक केबल के जरिए आपस में जुड़ी होती हैं। खरीद के इस प्रस्ताव के संदर्भ में विधि मंत्रालय केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी लेगा।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कैसे होगी तैयारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top