Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रोहिंग्या के घुसपैठ की आशंका, BSF ने सीमा पर बढ़ाई चौकसी

म्यांमार से सटी सीमा पर ऐसी 50 जगहों को चिन्हित किया है।

रोहिंग्या के घुसपैठ की आशंका, BSF ने सीमा पर बढ़ाई चौकसी

म्यांमार से रोहिंग्या शरणार्थियों के विस्थापन के बाद अवैध रूप से भारत में उनके प्रवेश की आशंका और बढ़ गई है। भारत सरकार ने रोहिंग्या समस्या पर पहले ही कड़ा रुख अख्तियार किया है।

बीएसएफ ने बांग्लादेश और म्यांमार से सटी सीमा पर ऐसी 50 जगहों को चिन्हित किया है जहां से रोहिंग्या मुस्लिम भारत में घुसपैठ कर सकते हैं। इन जगहों पर चौकसी बढ़ा दी गई है। इसके अलावा असम में रोहिंग्या शरणार्थियों की घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर हाई अलर्ट की स्थिति है।

संवेदनशील जगहों पर बढाई चौकसी

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने पश्चिम बंगाल से लगती हुई भारत-बांग्लादेश सीमा पर रोहिंग्या मुस्लिमों के अवैध प्रवेश को रोकने के लिए चौकसी बढ़ा दी है।

बीएसएफ के महानिरीक्षक (दक्षिण बंगाल) पीएसआर अंजनेयुलु ने बताया, 'पहले हमने 22 संवदेनशील स्थानों की पहचान की थी लेकिन अब यह संख्या बढ़कर 50 हो गई है। ये स्थान संवेदनशील हैं, जहां से बांग्लादेशी और रोहिंग्या, दोनों ही सीमा पार करके भारत में आ सकते हैं। हमने अपनी चौकसी बढ़ा दी है।'

ये इलाके हैं संवदेनशील

संवेदनशील इलाकों में पेत्रापोल, जयंतीपुर, हरिदासपुर, गोपालपारा और तेतुलबेराई भी शामिल हैं। दक्षिणी बंगाल फ्रंटियर के बीएसएफ अधिकारियों के अनुसार पिछले कुछ वर्षों में 175 रोहिंग्या को पकड़ा गया था, जिनमें से सात को इसी साल पकड़ा गया है।

रोहिंग्या की पहचान करने और उनके स्थान का पता रखने के लिए बीएसएफ अपने स्थानीय सूत्रों को बढ़ा रही है और विभिन्न केंद्रीय एजेंसियों के साथ भी काम कर रही है।

भारत-बांग्लादेश की कुल 4096 किलोमीटर लंबी सीमा

भारत-बांग्लादेश की कुल 4,096 किलोमीटर लंबी सीमा में से 2,216 किलोमीटर सीमा पश्चिम बंगाल में है। रोहिंग्या शरणार्थियों को केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अवैध प्रवासी बताते हुए कहा था कि इनका देश में रहना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है।

उधर, असम में भी रोहिंग्या शरणार्थियों के अवैध प्रवेश की आशंका को देखते हुए हाई अलर्ट है। असम पुलिस ने प्रदेश भर में हाई अलर्ट की घोषणा कर दी है।

यह कदम त्रिपुरा के सोनापुर से तीन भारतीय दलालों की गिरफ्तारी के बाद उठाया गया है जो रोहिंग्या शरणार्थियों को सूबे में घुसने में मदद कर रहे थे। कुछ सप्ताह पहले पुलिस ने 6 संदिग्ध रोहिंग्या को असम-त्रिपुरा की सीमा पर करीमगंज से पकड़ा था।

Next Story
Top