Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यूपी चुनाव से ऐन पहले मोबाइल बांटेंगे अखिलेश

18 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को मुफ्त समाजवादी स्मार्ट फोन देने का किया ऐलान

यूपी चुनाव से ऐन पहले मोबाइल बांटेंगे अखिलेश
लखनऊ. विधानसभा चुनाव नजदीक आने के बीच यूपी सीएम अखिलेश यादव ने पिछले दिनों दिए गए संकेत को अमली जामा पहनाते हुए सूबे के 18 साल या उससे अधिक उम्र के पात्र लोगों को मुफ्त समाजवादी स्मार्ट फोन देने का सोमवार को ऐलान कर दिया।
राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि सीएम ने समाज के सभी वगरें की सुविधा के लिए सरकार द्वारा जल्द ही समाजवादी स्मार्ट फोन योजना शुरू करेगी। इसके लिए एक माह के अंदर ऑनलाइन पंजीयन की कार्रवाई शुरू हो जाएगी। स्मार्ट फोन का वितरण वर्ष 2017 की दूसरी छमाही में पहले पंजीयन-पहले पाओ की व्यवस्था के माध्यम से किया जाएगा।
चुनावी बेला में सीएम की इस घोषणा को मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है। चुनाव से पहले यह घोषणा की गई है और वितरण का समय अगले साल की दूसरी छमाही तय की गई है। यानी अगर अगली सरकार भी सपा की बनी, तो ही लोगों को इस योजना का लाभ मिल सकेगा। अखिलेश ने गत 31 अगस्त को एक कार्यक्रम में प्रदेश की जनता को सूचना क्रांति की नई दुनिया से जोड़ने के लिए सभी को मुफ्त मोबाइल फोन देने का संकेत देते हुए कहा था कि यह सपा के घोषणापत्र का भी हिस्सा होगा।
प्रवक्ता ने बताया कि फोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले के लिए यूपी का नागरिक होना जरूरी है व एक जनवरी 2017 को उसकी उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए। सरकारी सेवा में कार्य करने वाले व्यक्ति आवेदन के पात्र नहीं होंगे। इसके अलावा अगर आवेदक का अभिभावक भी सरकारी सेवा में कार्यरत है तो वह भी आवेदन नहीं कर सकेगा। प्रवक्ता ने बताया कि इसी तरह अगर कोई आवेदक निजी क्षेत्र में कार्यरत है और परिवार की वार्षिक आय दो लाख रुपए से कम है, तभी आवेदन किया जा सकेगा।
ऑनलाइन पंजीयन करते समय केवल हाईस्कूल प्रमाण-पत्र की स्कैन कॉपी अपलोड करना जरूरी होगा। इसके अलावा रजिस्ट्रेशन के समय और कोई कागजात नहीं देने पड़ेंगे। उन्होंने बताया कि समाजवादी स्मार्ट फोन के लाभार्थियों के चयन का तरीका पूरी तरह से पारदर्शी होगा। इसके लिए किसी सरकारी दफ्तर में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऑनलाइन लाभार्थी के चयन के बाद स्मार्ट फोन सीधे लाभार्थी के घर भेजा जाएगा, ताकि इसमें किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार संभव न हो सके।
इच्छुक लाभार्थी को कम से कम हाईस्कूल पास होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा सरकार द्वारा करीब 18 लाख निशुल्क लैपटॉप वितरित किए गए। दुनिया की सबसे बड़ी निशुल्क लैपटॉप वितरण योजना होने के बावजूद लैपटॉप की गुणवत्ता एवं इसके वितरण में किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार की शिकायत नहीं मिली। उसी तरह समाजवादी स्मार्ट फोन योजना के तहत वितरित किए जाने वाले फोन भी उच्च गुणवत्ता के होंगे। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी संभावनाओं की शताब्दी है।
इसको ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार लगातार सूचना तकनीक के प्रयोग को बढ़ावा दे रही है, जिससे समाज के सभी वगरें को विकास के लिए समान अवसर उपलब्ध हो सकें। उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी निशुल्क लैपटॉप वितरण योजना की मदद से समाजवादी सरकार ने सही मायने में समाज के सभी वगरें में डिजिटल लोकतंत्र लाने का काम किया है।
अखिलेश ने कहा कि समाजवादी स्मार्ट फोन के माध्यम से जनता एवं सरकार के बीच द्विमार्गी संचार संभव हो सकेगा। इसके माध्यम से जहां राज्य सरकार द्वारा संचालित समस्त योजनाओं से सम्बन्धित सूचनाएं एवं जानकारियों के साथ-साथ राज्य सरकार की नीतियों को आम जनता तक पहुंचाने में मदद मिलेगी, वहीं सीधे जनता एवं लाभार्थियों से योजना के संबंध में महत्वपूर्ण फीडबैक मिल सकेगा।
यूपी चुनाव की तैयारी पर अखिलेश का मास्टर स्ट्रोक
विपक्षी दलों भाजपा, कांग्रेस ने बहरहाल अखिलेश सरकार की इस घोषणा को चुनावी शिगूफा करार देते हुए कहा है कि इस बार प्रदेश के युवक बेवकूफ बनने वाले नहीं हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सपा इस चुनावी वादे से अब सत्ता में वापसी नहीं कर पाएगी। कांग्रेस के संचार विभाग प्रमुख सत्यदेव त्रिपाठी ने अखिलेश के वादे को चुनावी चाल बताते हुए कहा कि सपा पहले भी इस तरह के वादे कर चुकी है, मगर अब यह कामयाब होने वाली नहीं है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top