Logo
election banner
Ulgulan Rally: विपक्षी पार्टियों के INDI गठबंधन ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची में रैली आयोजित की। रैली का नाम 'उलगुलान न्याय महारैली' रखा गया था। इस दौरान विपक्षी नेताओं ने केंद्र सरकार और बीजेपी पर निशाना साधा।

Ulgulan Rally: विपक्षी पार्टियों के INDI गठबंधन ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची में रैली आयोजित की। रैली का नाम 'उलगुलान न्याय महारैली' रखा गया था। मंच पर, प्रमुख विपक्षाी नेताओं के साथ, दो खाली कुर्सियों ने ध्यान आकर्षित किया। दोनों कुर्सियां जेल में बंद आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और  झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के लिए लगाई गई थी।  दोनों नेताओं  की जगह उनकी पत्नियां सुनीता केजरीवाल और कल्पना सोरेन मौजूद रहीं और अन्य नेताओं के साथ मंच साझा किया।

चिलचिलाती गर्मी के बीच उमड़ी भारी भीड़
भीषण गर्मी के बावजूद रैली में भारी भीड़ उमड़ी। रैली में आए लोगों ने हेमंत सोरेन की रिहाई के समर्थन और अन्याय के खिलाफ नारेबाजी की। बता दें कि'उलगुलान' शब्द ब्रिटिश शासन के खिलाफ आदिवासी अधिकारों के लिए बिरसा मुंडा के नेतृत्व में हुए ऐतिहासिक संघर्ष की याद दिलाता है। रैली में शिबू सोरेन, फारूक अब्दुल्ला, तेजस्वी यादव, अखिलेश यादव और भगवंत मान सहित कई विपक्षी पार्टियों के नेता मौजूद रहे। केंद्र सरकार के कथित अन्याय और दमनकारी शासन के खिलाफ अपनी एकजुटता दिखाने के लिए 28 राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि रांची के प्रभात तारा मैदान में एकजुट हुए।

'मेरे पति के एक-एक निवाले पर नजर रखी जा रही'
दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने केंद्र सरकार ने मंच से केंद्र सरकार पर निशाना साधा। सुनीता केजरीवाल ने कहा कि जेल में उनके पति को उचित इलाज मुहैया न कराकर उन्हें नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। दिल्ली के सीएम की जान लेने की कोशिश की जा रही है। सुनीता केजरीवाल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल बीते 12 साल से इंसुलिन ले रहे हैं, हालांकि, जेल प्रशासन उन्हें इंसुलिन नहीं लेने दे रही। उनके खाने के ऊपर कैमरे पर लगा दिए गए हैं। हर एक निवाले पर नजर रखी जा रही है। सुनीता केजरीवाल ने सवाल किया कि दिल्ली के हित के लिए कड़ी मेहनत करने वाले उनके पति को क्यों जेल में रखा गया है?

'मेरे पति में देश सेवा का जुनून है'
सुनीता केजरीवाल ने कहा कि मेरे पति में देश सेवा का जुनून है। साल 2006 में उन्होंने आईआरएस अधिकारी की नौकरी से इस्तीफा देकर समाज सेवा करने का फैसला किया। इसके पांच साल बाद 2011 में दिल्ली में आंदोलन हुआ, जो आप सभी को याद होगा। अरविंद केजरीवाल ने जनता के लिए दो बार लंबा अनशन किया। डॉक्टरों ने कहा कि आप सुगर के मरीज हैं, अनशन नहीं करें, इसके बावजूद मेरे पति ने अनशन किया और अपनी जान दांव पर लगा दिया। उन्हें तो बस अपने देश को नंबर 1 बनाना है। 

'जेल के ताले टूटेंगे, अरविंद केजरीवाल छूटेंगे'
सुनीता केजरीवाल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल उसूलों के पक्के हैं। समाज सेवा के प्रति अरविंद केजरीवाल समर्पित हैं। सुनीता केजरीवाल ने कहा कि 2013 में दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने के महज 49 दिन के भीतर अरविंद केजरीवाल को इस्तीफा दे दिया। उन्हें सत्ता से कोई मोह नहीं है, वह तो बस लोगों की सेवा करना चाहते हैं। दिल्ली सीएम की पत्नी ने कहा कि जेल के ताले टूटेंगे और अरविंद केजरीवाल और हेमंत सोरेन छूटेंगे। 

आदिवासी समाज पीएम मोदी के खिलाफ: संजय सिंह
आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा कि शिबू सोरेन दलितों के सबसे बड़े नेता हैं, मैं उनके आगे सिर झुका रहा हूं। आज यहां दो वीरांगनाएं कल्पना सोरेन और सुनीता केजरीवाल बैठी हैं। तेजस्वी यादव जिस तरह बीजेपी और उसके गठबंधन में शामिल दूसरी पार्टियों के नेताओं से लड़ रहे हैं, मैं इसके लिए उन्हें बधाई दे रहा हूं। हम लोग यहां अरविंद केजरीवाल और हेमंत सोरेन के लिए पहुंचे हैं। पीएम मोदी तक संदेश पहुंचाना चाहते हैं कि देश का आदिवासी समाज आपके खिलाफ हो चुका है।

'बीजेपी नागपुर के संविधान को मानती है'
संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर के संविधान को नहीं नागपुर के संविधान काे मानती है। हम सभी को संविधान को बचाने के लिए लड़ाई लड़नी होगी। बीजेपी कह रही है कि हमें 400 सीटों पर जीत दिला दो, हम संविधान बदलना चाहते हैं। आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि तानाशाही के खिलाफ इस लड़ाई में पूरा देश INDI गठबंधन के साथ खड़ा है।  INDI गठबंधन में शामिल सभी पार्टियां देश को और इसके संविधान को बचाने की लड़ाई लड़ रही हैं। 

jindal steel Ad
5379487