Logo
election banner
गांधीनगर में 'वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट 2024' का आयोजन किया जा रहा है। प्रधानमंत्री समिट के विभिन्न आयोजनों में शामिल होने के लिए तीन दिवसीय गुजरात दौरे पर हैं।  

Vibrant Gujarat Global Summit 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) मंगलवार को गांधीनगर में वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक शिखर सम्मेलन 2024 (VGGS) में शामिल हुए। उन्होंने वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल ट्रेड शो का शुभारंभ किया और कई कंपनियों के स्टॉल्स भी देखे। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान वाइब्रेंट समिट के मुख्य अतिथि हैं। पीएम मोदी और नाहयान के बीच द्विपक्षीय वार्ता में कई अहम समझौते होने की उम्मीद है।

Vibrant Gujarat Global Summit
पीएम मोदी और यूएई के राष्ट्रपति नाहयान रोड शो के दौरान एक ही कार में सवार हुए।

प्रधानमंत्री मोदी ने एयरपोर्ट पहुंचकर उनकी अगवानी की। इसके बाद दोनों नेताओं ने एक ही कार में गांधीनगर में 3 किलोमीटर लंबा रोड शो किया।यह रोड शो इंदिरा नगर ब्रिज पर हुआ, जो कि अहमदाबाद और गांधीनगर को जोड़ता है।

वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल ट्रेड शो का शुभारंभ
नरेंद्र मोदी बुधवार को महात्मा मंदिर कन्वेंशन सेंटर में 'वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट' का विधिवत शुभारंभ करेंगे। आज उन्होंने वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल ट्रेड शो की शुरुआत की। गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल भी उनके साथ मौजूद रहे। इस मौके पर मोदी ने समिट से जुड़ी बुकलेट का विमोचन किया और कई कंपनियों के स्टॉल्स भी देखे। बता दें कि वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट' का यह 10वां संस्करण है, जो 10 से 12 जनवरी 2024 तक चलेगा। 

2 राष्ट्रपति और 5 कंपनियों के CEOs से मीटिंग
प्रधानमंत्री मोदी ने तिमोर लेस्ते के राष्ट्रपति जोस रामोर्स होर्ता मोजैम्बिक के राष्ट्रपति फिलिप न्यूसी के साथ द्विपक्षीय बैठक की। न्यूसी ने कहा कि हमने कृषि और ऊर्चा क्षेत्र के अलावा आज कई मुद्दों पर चर्चा की। मोजैम्बिक में बहुत सी भारतीय कंपनियां हैं। हमें टूरिज्म और फिशिंग को लेकर ज्यादा काम करने की जरूरत है। वहीं, समिट को लेकर तिमोर-लेस्ते के राष्ट्रपति ने कहा कि आज मैंने जो कुछ भी देखा है। उससे बहुत आश्चर्यचकित हूं...

मोदी ने ग्लोबल कंपनियों के सीईओ से की चर्चा
साथ ही, दुनिया की टॉप 5 ग्लोबल कंपनियों के सीईओ से चर्चा भी की। इनमें तोशीहीरो सुजूकी और सुल्तान अहमद बिन शामिल हैं।

पीएमओ ने समिट को 'गेटवे टू द फ्यूचर' बताया
प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने बयान जारी कर इस समिट को 'गेटवे टू द फ्यूचर' (भविष्य का प्रवेश द्वार) बताया है। इस सम्मेलन में 34 देशों की भागीदारी है, साथ ही 16 भागीदार संगठन भी शामिल हुए हैं। इसके अलावा 133 देशों के राजनयिक, कारोबारी और मंत्री भी हिस्सा लेंगे। इसके इतर पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय भी इस मंच का इस्तेमाल पूर्वोत्तर क्षेत्रों में निवेश के अवसरों को प्रकट करने के लिए करेगा।

अंबानी-अडाणी समेत कई कारोबारी होंगे शामिल
समिट में गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, नैस्डेक, सुजूकी जैसी कई बड़ी कंपनियों के सीईओ शामिल होंगे। इसके अलावा एशिया के सबसे अमीर कारोबारी गौतम अडाणी, रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी और चंद्रशेखर नटराजन जैसे बिजनेसमैन समिट में अपनी मौजूदगी दर्ज कराएंगे। 

विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी समिट
समिट में उद्योग 4.0, प्रौद्योगिकी और नवाचार, सतत विनिर्माण, ग्रीन हाइड्रोजन, इलेक्ट्रिक मोबाइलिटी, और नवीकरणीय ऊर्जा और स्थायिता जैसे वैश्विक विषयों पर सेमिनार और सम्मेलन आयोजित होंगे। साथ ही, वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन में कंपनियों ने अपने प्रोडक्ट्स की प्रदर्शनी लगाई है। जो आधुनिक तकनीक से तैयार किए गए हैं। यह समिट व्यापक सहयोग, ज्ञान साझाकरण, और स्थायी विकास के लिए एक महत्त्वपूर्ण कदम साबित हो सकता है।

5379487