Logo
election banner
Karnataka Medical College Junior Doctors Reels: कर्नाटक के हॉस्पिटल में बनी जूनियर डॉक्टरों की रील्स तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहीं, जो हिंदी और कन्नड़ भाषा के मशहूर गानों पर बनी हैं।

Karnataka Medical College Junior Doctors Reels: कर्नाटक के एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में सोशल मीडिया पर रील्स पोस्ट करने को लेकर 38 जूनियर डॉक्टरों को सख्त कार्रवाई का सामना करना पड़ा है। गडग इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के डायरेक्टर ने इसे स्टूडेंट्स की ''गंभीर गलती'' बताया है। सजा के तौर पर जूनियर डॉक्टरों की हाउसमैनशिप (व्यावहारिक प्रशिक्षण) को 10 दिनों के लिए आगे बढ़ा दिया। क्योंकि उनके द्वारा शूट की गई रील सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।

हॉस्पिटल के बेड पर सलाइन के साथ नजर आए
इन रील्स में जूनियर डॉक्टर कॉलेज कैंपस में हॉस्पिटल की ड्रेस पहनकर डांस करते हुए दिखाई दिए। इतना ही नहीं उन्होंने हॉस्पिटल के संसाधनों का भी दुरुपयोग किया। वे सलाइन और व्हील चेयर का इस्तेमाल करते नजर आए। हॉस्पिटल में बनी जूनियर डॉक्टरों की यह रील्स तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं, जो हिंदी और कन्नड़ भाषा के मशहूर गानों पर बनाई गई हैं। सोशल मीडिया यूजर्स ने डॉक्टरों पर अपनी ड्यूटी छोड़कर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए हैं।   

डायरेक्टर बोले- मरीजों को हुई परेशानी बर्दाश्त नहीं
मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर ने कहा कि हम डॉक्टरों को ऐसी गतिविधियों के लिए बिल्कुल भी अनुमति नहीं दे सकते हैं। यह उनकी गंभीर गलती है। अगर उन्हें ऐसे कोई वीडियो तैयार करने थे तो कहीं बाहर जाकर बना सकते थे, लेकिन हॉस्पिटल में मरीजों को हुई परेशानी बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। उचित कार्रवाई की जा रही है।  

मेडिकल स्टूडेंट ने कहा- हमने तो परमिशन ली थी
डॉक्टर बस्वराज बोम्मनहल्ली ने बताया कि उन्होंने प्री-ग्रेजुएशन सेरेमनी के लिए रील्स बनाई थीं, लेकिन इसे स्वीकार्य नहीं माना गया। हालांकि, हम लोगों ने इसके लिए अनुमति ली थी। डॉक्टरों द्वारा शूट की गई रील्स पहले भी कई मौकों पर सोशल मीडिया में वायरल हो चुकी हैं। कोविड महामारी के दौरान हमारी रील्स को जनता की ओर से काफी सराहना भी मिलीं। लेकिन इस बार जनता की अलग ओपिनियन सामने आई है।

5379487