Logo
election banner
Bharat Ratna: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देश के दो पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने की घोषणा की। साथ ही प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भी सर्वोच्च नागरिक सम्मान देने का फैसला किया गया है।

Bharat Ratna: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देश के दो पूर्व प्रधानमंत्रियों को भारत रत्न देने की घोषणा की। सरकार ने पूर्व पीएम पीवी नरसिम्हा राव और चरण सिंह को भारत रत्न देने का फैसला लिया है। इसके साथ ही वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न से नवाजा गया। इससे पहले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर और पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को इस सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया गया था। 

पीएम मोदी ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा- मुझे  बताते हुए खुशी हो रही है कि देश के पूर्व प्रधान मंत्री, पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। नरसिम्हा राव को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और कई वर्षों तक संसद और विधान सभा के सदस्य के रूप में किए गए कार्यों के लिए समान रूप से याद किया जाता है। उनके दूरदर्शी नेतृत्व ने भारत को आर्थिक रूप से उन्नत बनाने और देश की समृद्धि के लिए एक ठोस नींव रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

पीवी नरसिम्हा राव 1991 से 1996 तक पीएम रहे
पीवी नरसिम्हा राव 1991 से 1996 तक प्रधान मंत्री रहे थे। राव को भारत के आर्थिक उदारीकरण की शुरुआत करने वाले व्यक्ति के रूप में जाना जाता है। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को श्रमिकों और किसान अधिकारों के लिए काम करने वाले नेता के तौर पर जाना जाता है। सिंह ने 1979 में कुछ समय के लिए प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया। प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक डॉ. स्वामीनाथन को भारत की हरित क्रांति का जनक माना जाता है। 

डॉ‍. स्वामीनाथन को भारत रत्न मिलना खुशी की बात
यह बेहद खुशी की बात है कि भारत सरकार कृषि और किसानों के कल्याण में उल्लेखनीय योगदान के लिए डॉ. एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न से सम्मानित करने का फैसला किया है। पीएम मोदी ने कहा कि डॉ स्वामिनाथन ने चुनौतीपूर्ण समय में भारत को कृषि में आत्मनिर्भर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने भारतीय कृषि को आधुनिक बनाने की दिशा में शानदकार काम किए। डॉ. स्वामीनाथन के दूरदर्शी नेतृत्व ने न केवल भारतीय कृषि को बदल दिया है बल्कि देश की खाद्य सुरक्षा और समृद्धि भी सुनिश्चित की है। वह ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें मैं करीब से जानता था और मैं हमेशा उनके विजन और इनपुट को अहम मानता था। 

'इमरजेंसी के दौरान लोकतंत्र के प्रतिबद्ध रहे चौधरी चरण सिंह'
प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि यह हमारी सरकार का सौभाग्य है कि देश के पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न से सम्मानित किया जा रहा है। देश के लिए उनके अतुलनीय योगदान को देखते हुए यह सम्मान दिया जा रहा है। चौधरी चरण सिंह ने किसानों के अधिकार और उनके कल्याण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया था। चाहे वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हों या देश के गृहमंत्री या फिर एक विधायक उन्होंने हमेशा राष्ट्र निर्माण को गति दी। वह आपातकाल के विरोध में भी डटकर खड़े रहे। किसानों के लिए उनका समर्पण और इमरजेंसी के दौरान लोकतंत्र के लिए उनकी प्रतिबद्धता पूरे देश को प्रेरित करने वाली है।

jindal steel Ad
5379487