Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑफलाइन होगी सेट की परीक्षा, डीईओ छपवाएंगे प्रश्न-पत्र, पढ़ें जरूरी दिशा- निर्देश

शिक्षा विभाग ने उक्त परीक्षा को ऑफलाइन कराए जाने का फैसला लिया है। साथ ही इस बार तीसरी नहीं बल्कि पहली क्लास से परीक्षा अंग्रेजी व हिंदी दोनों माध्यमों से आयोजित करवाई जाएगी। फिलहाल शिक्षा विभाग ने उक्त परीक्षा 13 दिसम्बर से कराए जाने के निर्देश दिए है।

MP Board Special Exams 2021: एमपी बोर्ड विशेष परीक्षा के एडमिट कार्ड 1 सितंबर को होंगे जारी
X

 प्रतीकात्मक फोटो। 

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

कोरोना की लहर शांत होने के बाद अब बच्चों का ज्ञान जांचने के लिए होने वाली सेट की परीक्षा अब ऑनलाइन नहीं होगी। शिक्षा विभाग ने उक्त परीक्षा को ऑफलाइन कराए जाने का फैसला लिया है। साथ ही इस बार तीसरी नहीं बल्कि पहली क्लास से परीक्षा अंग्रेजी व हिंदी दोनों माध्यमों से आयोजित करवाई जाएगी। फिलहाल शिक्षा विभाग ने उक्त परीक्षा 13 दिसम्बर से कराए जाने के निर्देश दिए है। परीक्षा से संबंधित दिशा-निर्देश आने के बाद अधिकारियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिसम्बर माह में सेट.3 की होने वाली परीक्षा अब ऑनलाइन नहीं होगी, बल्कि ऑफलाइन कराए जाने का निर्णय लिया गया है। शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा अधिकारियों को भेजे निर्देशों में कहा गया है कि अब तीसरी नहीं बल्कि पहली क्लास से सेट की परीक्षा शुरू करवाई जाएगी। परीक्षा शुरू होने से पहले सभी बच्चों को परीक्षा की डेटशीट नोटबुक पर लिखवानी होगी। डेटशीट लिखवाने के बाद बच्चों के माता -पिता की परीक्षा को लेकर सहमति भी जरूरी होगी। उनकी सहमति के बाद ही बच्चों की परीक्षा करवाई जाए। साथ ही भेजे निर्देशों में कहा गया है कि उक्त परीक्षा के सफल आयोजन के बाद प्रत्येक स्कूल में हरेक बच्चों की हाजिरी सुनिश्चित करवाई जाए। ताकि बच्चों की पढ़ाई सही ढंग से नियमित हो सके।

शिक्षा विभाग ने भेजे निर्देशों में कहा है कि वे बच्चों को परीक्षा शुरू होने से दस मिनट पहले दे। साथ इसी दौरान शिक्षकों को उपलब्ध करवाए जाए। इससे पहले सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को उत्तरपुस्तिका व प्रश्न-पत्र की सीडी उपलब्ध करवाई जाएगी। अधिकारी अपने स्तर पर शॉर्ट टेंडर करके प्रश्न-पत्र प्रिंट करवाएंगे। उसके बाद स्कूल मुखियाओं के माध्यम से उनको प्रश्न-पत्र के सील बंद लिफाफे दिए जाएंगे। बताया जा रहा है कि इन प्रशनपत्रों को छपवाने के लिए हर जिले के जिला शिक्षा अधिकारी के खाते में पांच लाख रुपये की राशि भेजी जाएगी। ताकि समय से पहल प्रश्न-पत्रों को प्रींट करवाया जा सके। यहां यह बताते चले कि इस बार सभी कक्षाओं के प्रशनपत्र हिंदी व अंग्रेजी मीडियम से छपवाए जाएंगे। ताकि जो बच्चा अंग्रेजी माध्यम से पेपर करना चाहे। वह अंग्रेजी माध्यम से और जो हिंदी माध्यम से करना चाहे। उसके लिए हिंदी माध्यम का प्रशनपत्र उपलब्ध करवाया जाएगा।

शत- प्रतिशत हाजिरी होनी चाहिए सुनिश्चित

सेट की परीक्षा आयोजित कराए जाने के बाद सभी स्कूलों बच्चों की हाजिरी शत-प्रतिशत होनी चाहिए। इसके अलावा इस परीक्षा के आयोजन के बाद प्रदेश के सभी स्कूलों को नियमित लगाए और बच्चों की नियमित कक्षाएं भी लगाई जाए। ताकि बच्चों की पढ़ाई को पटरी पर लाया जा सके। साथ ही अधिकारियों ने निर्देशों में कहा है कि परीक्षा के आयोजन के दिन ही उस पेपर की उत्तरपुस्तिका की जांच करें। ताकि यह जांच की जा सके कि बच्चे में ज्ञान का स्तर कितना है। उसी हिसाब से पढ़ाई को गति दी जाएगी।

Next Story