Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हर पुलिसकर्मी का बनेगा हेल्थ डाटा कार्ड : हर 15 दिन में होगा चेकअप, कार्ड को देख दी जाएगी पोस्टिंग

पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार अग्रवाल ने हाल ही में सभी जिलों के एसपी को आदेश जारी किए हैं। इनमें कहा गया कि कर्मचारियों के हेल्थ डाटा कार्ड बनाए जाएं, ताकि उन्हें हेल्थ के मुताबिक ही ड्यूटी की पोस्टिंग मिल सके और उनका समय पर उपचार हो सके।

हर पुलिसकर्मी का बनेगा हेल्थ डाटा कार्ड : हर 15 दिन में होगा चेकअप, कार्ड को देख दी जाएगी पोस्टिंग
X

एसपी उदय सिंह मीना 

विजय अहलावत : रोहतक

जिला पुलिस को तनाव से दूर करने के लिए विभाग में बड़े स्तर पर मुहिम छेड़ी गई है। अब हर पुलिस कर्मी का हेल्थ कार्ड तैयार किया जा रहा है। उनका डाटा विभाग के कम्प्यूटर में रिकार्ड के तौर पर रखा जाएगा।

खास बात यह है कि जवान जिस भी जिला में ड्यूटी करेंगे, उनका हेल्थ डाटा उसी जिला में स्थानांतरित किया जाएगा। इसी आधार पर उनकी नियुक्ति भी की जाए। इससे उनके उपचार में भी मदद मिलेगी। पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार अग्रवाल ने हाल ही में सभी जिलों के एसपी को आदेश जारी किए हैं। इनमें कहा गया कि कर्मचारियों के हेल्थ डाटा कार्ड बनाए जाएं, ताकि उन्हें हेल्थ के मुताबिक ही ड्यूटी की पोस्टिंग मिल सके और उनका समय पर उपचार हो सके। इसके बाद से ही रोहतक पुलिस ने काम शुरू किया है। करीबन दो सौ कर्मचारियों का डाटा तैयार कर लिया गया है। इसके अलावा पुलिस लाइन, थाना, चौकी, पीसीआर, सीआईए, एसपी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों को हेल्थ चैकअप कैंप में बुलाया गया है। यहां चिकित्सकों की देखरेख में उनका हेल्थ डाटा तैयार होगा। जिन्हें कोई बीमारी मिलती है, उसका उपचार करवाया जाएगा। दो से ढाई माह में डाटा तैयार कर रिपोर्ट हेडक्वाटर भेजी जाएगी।

पहले चरण में थानों में काउंसलर नियुक्त किए गए थे। जहां कर्मचारी अपने दिल की बात कर सकते हैं। सभी थानों में नियुक्त किए गए काउंसलर की मीटिंग सोमवार को ली जाएगी। इसके बाद योजना पर काम शुरू हो जाएगा। अब दूसरे चरण में हेल्थ कार्ड बनाए जा रहे हैं।

नए आदेशों के तहत पुलिस लाइन अस्पताल में हर 15 दिन में हेल्थ चैकअप कैंप लगाए जाएंगे। जहां जवानों के स्वास्थ्य की जांच होगी। जिन्हें कोई बीमारी पाई जाती है, उसका शहर के नामी चिकित्सकों से उपचार करवाया जाएगा। पीजीआई के अलावा कई बड़े निजी अस्पताल में उन्हें उपचार की सुविधा दिलवाई जाएगी। ऐसे कई अस्पताल पुलिस के पैनल पर भी हैं।

इनका बनेगा कार्ड

जिला पुलिस में करीबन 2500 कर्मचारी कार्यरत हैं। इनमें इंस्पेक्टर, एसआई, एएसआई, सिपाही, एसपीओ और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी शामिल हैं। इन सभी का रिकार्ड तैयार किया जा रहा है।

समय पर उपचार

सभी कर्मचारियों के हेल्थ कार्ड बनाए जा रहे हैं ताकि उनकी बीमारी का पता लगा कर समय पर उपचार करवाया जा सके। उनकी हेल्थ के स्तर को देखते हुए ही भविष्य में उनको ड्यूटी दी जाएंगी। दूसरे जिलों में स्थानांतरित होेने के दौरान भी उनके साथ हेल्थ कार्ड रहेगा। योजना जल्द ही पूरी कर ली जाएगी। - उदय सिंह मीना, एसपी रोहतक

और पढ़ें
Next Story