Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Model Sanskriti School : बच्चों को पढ़ाने से पहले इंटरव्यू की अग्नि परीक्षा से गुजरेंगे गुरु जी

सीबीएसई (CBSE) में जाने वाले प्रदेश के 136 संस्कृति माडॅल स्कूलों में विभिन्न विषयों के करीब 1170 टीचरों की सख्त जरूरत है । हालांकि इन स्कूलों में अधिकांश विषयों के शिक्षक तैनात है,लेकिन सीबीएसई अपने नियमों पर खरा नहीं मान रही । जिसके चलते इन पदों पर नियुक्ति पाने के इच्छुक शिक्षकों को फिर से शिक्षा विभाग मुख्यालय में अपने विषय से संबंधित साक्षात्कार देना होगा उसके बाद ही इन स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति हो पाएगी।

अब शिक्षकों की नहीं खलेगी कमी
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

पुरुषोत्तम तंवर : भिवानी

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड (Board of School Education Haryana) से सीबीएसई बोर्ड (CBSE) में जाने वाले मॉडल संस्कृतिक स्कूलों में बच्चों को पढाने से पहले टीचरों को इंटरव्यू की अग्नि परीक्षा से गुजरना होगा । सीबीएसई में जाने वाले प्रदेश के 136 मॉडल संस्कृति स्कूलों (Model Sanskriti Schools) में विभिन्न विषयों के करीब 1170 टीचरों की सख्त जरूरत है । हालांकि इन स्कूलों में अधिकांश विषयों के शिक्षक तैनात है,लेकिन सीबीएसई अपने नियमों पर खरा नहीं मान रही । जिसके चलते इन पदों पर नियुक्ति पाने के इच्छुक शिक्षकों को फिर से शिक्षा विभाग मुख्यालय में अपने विषय से संबंधित साक्षात्कार देना होगा । उसके बाद ही इन स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति हो पाएगी।

अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इन स्कूलों में तैनात शिक्षकों को अतिरिक्त मेहनताना मिलेगा या नहीं,लेकिन फिलहाल इन स्कूलों में नियुक्ति साक्षात्कार के बाद ही हो पाएगी । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन स्कूलों में अधिकांश विषयों के शिक्षक नियुक्त है । फिलहाल प्रदेश के सभी मॉडल संस्कृति स्कूलों में 142 अंग्रेजी विषय के टीचरों, 110 गणित टीचरों के पद रिक्त दर्शाए गए है । मातृ भाषा हिंदी 98 ,बायोलॉजी विषय के 81 ,रसायन शास्त्र व कॉमर्स विषय के 71 व 70 टीचरों के पद रिक्त दिखाए गए है। इन सभी विषयों के टीचर मॉडल संस्कृति स्कूलों में नियुक्त है ।

दस अगस्त तक शिक्षा विभाग ने साक्षात्कार के लिए मांगे आवेदन

सूत्र बताते है कि शिक्षा विभाग ने इन स्कूलों में पूरी तरह से सीबीएसई के नियम फोलो करने के साथ साथ टीचरों को भी अपडेट करने जा रही है । जो कि शिक्षक इन स्कूलों में तैनात है और उसी स्कूल में रहना चाहता है तो उस शिक्षक को शिक्षा विभाग के एक साक्षात्कार की अग्नि परीक्षा से गुजरना होगा । हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि शिक्षा विभाग उक्त टीचरों की लिखित परीक्षा आयोजित करवाएगा या फिर साक्षात्कार लेगा ,लेकिन शिक्षा विभाग ने इच्छुक शिक्षकाें से दस अगस्त तक ऑनलाइन आवेदन मांगे है । फिलहाल इन निर्देशों को लेकर शिक्षक असमजस की स्थिति में है ।

वेतन पर नहीं पड़ेगा कोई फर्क, रहना होगा अपडेट

जानकारी के अनुसार मॉडल संस्कृति स्कूलों में जाने वाले टीचरों की सेलरी में कोई बढ़ोतरी होगी,बल्कि पहले की तरह ही सेलरी मिलती रहेगी,लेकिन उसको सीबीएसई के नियमों के हिसाब से अपने विषय में हमेशा अपडेट रहना पडे़गा । मसलन क्लासरूम में बच्चों को सीबीएसई के पैर्टन पर पढ़ाने व अन्य नियम शामिल है । दूसरी तरफ इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को भी पढ़ाई के मामले में अपडेट रहना होगा । तभी सीबीएसई से दसवीं व 12वीं अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे ।

साक्षात्कार के लिए आवेदन मांगे

बताते है कि फिलहाल मॉडल संस्कृति स्कूलों में नियुक्त टीचरों से साक्षात्कार के लिए आवेदन मांगे है । आवेदन करने वाले तथा साक्षात्कार में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को इसी स्कूल में रखा जाएगा,जिसमें फिलहाल नियुक्त है,लेकिन साक्षात्कार के लिए आवेदन न करने वाले तथा साक्षात्कार में बेहतरीन प्रदर्शन न कर पाने वाले शिक्षकों को अन्यंत्रण भेजा जाएगा । चूंकि इन स्कूलों में अनेक ऐसे शिक्षक है जो कि पिछले पांच व दस साल से एक ही जगह चिपके बैठे है। ऐसे शिक्षकों को मॉडल संस्कृतिक स्कूल छोड़ना पड़ेगा ।

पहले से तैनात शिक्षकों को ही बुलाया जाएगा

जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह ने बताया कि संस्कृतिक मॉडल स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति दोबारा इंटरव्यू के बाद की जाएगी । इंटरव्यू में केवल विभाग में पहले से तैनात शिक्षकों को ही बुलाया जाएगा । इसके लिए विभाग ने दस अगस्त तक ऑन लाइन शिक्षकों से आवेदन मांगे है ।जो शिक्षक विभाग द्वारा लिए जाने वाले साक्षात्कार में पास होगा और साक्षात्कार कमेटी को यह लगेगा कि उक्त टीचर क्लास को बेहतरीन ढंग से पढ़ा सकता है। उन्हीं को इन स्कूलों में रखा जांएगा।

Next Story