Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिजली चोरी : मीटरों में मिली सेंसर तकनीक वाली इलेक्टोनिक चिप, रिमोट से हो रहे थे ऑन-ऑफ

बिजली निगम की टीम ने सोनीपत में कई स्थानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। टीम ने 21 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी और करीब 10 लाख रुपये का जुर्माना भी ठोका।

मीटर रीडिंग शुरू, दो माह में 800 यूनिट पर बिजली बिल हॅाफ
X
बिजली मीटर (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

बिजली निगम की टीम ने शनिवार को बिजली चोरी रोकने के लिए शहर के कई स्थानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। इस दौरान टीम ने 21 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी। टीम अधिकारियों ने बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं पर करीब 10 लाख रुपये का जुर्माना भी ठोका। बिजली निगम अधिकारियों का कहना है कि बिजली चोरी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। टीम का छापेमार अभियान इसी प्रकार जारी रहेगा।

बिजली निगम की टीम ने शहर के विकास नगर व देवडू रोड पर छापेमारी की, जहां पर बिजली मीटरों से छेड़छाड़ कर उनमें सेंसर तकनीक वाली इलैक्ट्रोनिक चिप लगे होने का खुलासा हुआ। बिजली निगम अधिकारियों ने बताया कि इन मीटरों को रिमोट से कंट्रोल किया जा रहा था। बिजली चोरी करने की तकनीक का खुलासा होने के बाद मुरथल सब डिविजन व इंडस्ट्रीयल एरिया सब डिविजन की टीमों ने शहर के दूसरे क्षेत्रों में भी छापामार कार्रवाई शुरू कर दी। बिजली निगम की टीम द्वारा बड़े स्तर पर एक साथ की गई कार्रवाई के दौरान विभिन्न कालोनियों में 21 स्थानों पर बिजली चोरी के मामले पकड़े गए। टीम ने बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं पर करीब 10 लाख रुपये का जुर्माना ठोका है। वहीं जिन मीटरों से छेड़छाड़ की गई थी, उन्हें भी उखाड़कर जांच के लिए लैब में भिजवाया गया है।

21 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी

बिजली चोरी रोकने के लिए टीम ने शनिवार को कई कालोनियों में छापेमार कार्रवाई की है। इस दौरान 21 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी गई है। इन उपभोक्ताओं पर करीब 10 लाख रुपये जुर्माना किया गया है। कुछ मीटरों में इलेक्ट्रोनिक चिप लगाकर छेड़छाउ़ की गई थी। ऐसे उपभोक्ताओं पर 80-80 हजार रुपये जुर्माना किया गया है। साथ ही करीब आधा दर्जन मीटरों को उखाड़कर जांच के लिए लैब भेज दिए गए हैं। बिजली चोरी रोकने के लिए यह अभियान निरंतर जारी रहेगा। -प्रदीप कुमार, एसडीओ, बिजली निगम

Next Story