Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दीपेंद्र हुड‍्डा बोले : किसानों से टकराने और टरकाने का रास्ता न अपनाएंं सरकार

दीपेन्द्र हुड्डा ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि वो किसानों से टकराने और टरकाने की बजाय स्थिति की गम्भीरता समझे और तुरंत किसानों की मांगें माने।

दीपेंद्र हुड‍्डा बोले : किसानों से टकराने और टरकाने का रास्ता न अपनाएंं सरकार
X

रोहतक। सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने आज कहा कि हरियाणा कांग्रेस विधायक दल की मांग पर तत्काल विधानसभा का आपात-सत्र बुलाकर अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाए ताकि ये स्पष्ट हो कि कौन सा विधायक जनता के साथ है और कौन सा विधायक सरकार के साथ है।

उन्होंने कहा कि भाजपा-जजपा नेता व सरकार में बैठे लोग उकसाने वाली, ग़ैर ज़िम्मेदाराना भाषा व उकसाने वाले कदम न उठाएँ, इसमें किसी का लाभ नही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अनुशासन व शांति किसान आंदोलन के दो गहने हैं व दो सबसे बड़े हथियार हैं।

इसी मार्ग पर अडिग रहना सबसे बड़ी ताकत है। दीपेन्द्र हुड्डा ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि वो किसानों से टकराने और टरकाने की बजाय स्थिति की गम्भीरता समझे और तुरंत किसानों की मांगें माने। किसानों की मांगों को स्वीकार करने में हार न समझे भारत सरकार।

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि 8 विधायक, डीजीपी, 2 आईजी, 5 एसपी, 19 डीएसपी, 5000 सिपाहियों की भारी भरकम फ़ौज लगाकर भी सरकार मुख्यमंत्री के गृह-क्षेत्र में प्रदेश-स्तर की पंचायत नहीं करा पायी।

इस घटना से एक बात स्पष्ट हो गई है कि प्रदेश की जनता का विश्वास इस सरकार से पूरी तरह उठ चुका है और प्रदेश सरकार के मुखिया अपने इलाके में भी लोगों का भरोसा खो चुके हैं। जनभावना को समझने का इससे आसान तरीका और कोई नहीं हो सकता। जनता का विश्वास डंडे से नहीं बल्कि प्यार से जीता जाता है।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार न सिर्फ इतने बड़े आंदोलन की अनदेखी कर रही है बल्कि, किसानों की शहादत को भी नज़रअंदाज़ कर रही है। हर रोज़ किसान दिल्ली की सीमाओं पर अपनी शहादत दे रहे हैं, लेकिन सरकार सत्ता के नशे में चूर होकर आँखें और कान बंद किये बैठी है।



Next Story