Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रदेश में ओमिक्रोन का हल्ला बोल: इन शर्तों के साथ खुलेंगे स्कूल

प्रदेश में ओमिक्रोन नाम के नए वैरियंट ने एक बार फिर परेशानियां बढ़ा दी हैं। ओमिक्रोन और कोरोना की तीसरी लहर की आशंका में सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित होंगे ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। इस मामले में स्कूल संचालन के अलग-अलग राज्यों से अलग निर्णय सामने आ रहे है। लेकिन छत्तीसगढ़ में स्कूल किन शर्तों के साथ खुलेंगी। पढ़िये पूरी खबर-

प्रदेश में ओमिक्रोन का हल्ला बोल: इन शर्तों के साथ खुलेंगे स्कूल
X

रायपुर। देश मे 125 करोड़ से ज्यादा लोगो को कोरोना का टीका लग चुका है। जैसे-तैसे कोरोना की 2 लहरों से निपटा गया और माना जा रहा था कि अब हालात सामान्य होंगे। लेकिन ओमिक्रोन नाम के इस नए कोरोना वैरियंट ने पूरे विश्व मे एक बार फिर खलबली मचा दी है। भारत में भी इस ओमिक्रोन वायरस ने दस्तक दे दी है। माना जा रहा है कि यह तीसरी लहर की शुरुआत है। एक्सपर्ट का कहने है कि तीसरी लहर में सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित होंगे। कई राज्यों में स्कूल या तो बंद रहेंगे या आधी क्षमता के साथ खुलेंगे।लेकिन छत्तीसगढ़ में अभी स्कूल बंद करने पर कोई विचार नही हुआ है। प्रदेश सरकार का मानना है कि अभी ऐसे हालात नही है कि स्कूल बंद करने पर कोई विचार किया जाए।

इस ओमिक्रोन वायरस से हंड़कप तो मचा ही हुआ है। वहीं दूसरी ओर सरकार के इस फैसले पर विपक्ष को सियासत करने का एक और मौका मिला गया है। स्कूली बच्चों और नए वैरियंट को लेकर विपक्ष ने सरकार को पुन: विचार करने की सलाह दी है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है सरकार को पुरानी गलतियों से सीख लेनी चाहिए और बच्चो को सुरक्षित रखने के लिए स्कूल खोलने के निर्णय पर सोच समझकर निर्णय लेने की जरूरत है। क्योकि प्रदेश में सिर्फ 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चो की संख्या 4 लाख 75 हजार से ज्यादा है। एक तरफ देश वैक्सीनेशन की तरफ लगातार आगे बढ़ रहा है।

Next Story