Logo
election banner
Parenting Tips: अकसर देखा गया है कि एकल परिवारों में बच्चों की पर्सनालिटी अच्छी तरह डेवलप नहीं होती है। ऐसा ना हो, इसके लिए पैरेंट्स को अपनी परवरिश में कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Parenting Tips: आज की जीवन शैली में परिवार की जरूरतें बहुत बढ़ गई हैं, जिन्हें पूरा करने के लिए पति-पत्नी दोनों का जॉब करना जरूरी हो जाता है। ऐसी स्थिति में बच्चों की परवरिश पर भी असर पड़ रहा है, उनके व्यवहार में परिवर्तन आ रहा है, उनकी पर्सनालिटी अच्छी तरह डेवलप नहीं हो पाती है। इसके लिए पैरेंट्स का कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

इसलिए बदलता है स्वभाव
बच्चे जब अधिक समय तक अकेले रहते हैं तो अपने मन की बात परिवार में किसी से साझा नहीं कर पाते। उनकी उलझनों को सुलझाने के लिए सामने कोई मौजूद नहीं रहता। इसके कारण वो अंदर ही अंदर घुटते रहते हैं। नतीजतन वे चिढ़चिढ़े, गुस्सैल हो जाते हैं या गुमसुम रहने लगते हैं। उनकी पर्सनालिटी अच्छी तरह डेवलप नहीं हो पाती है। 

डांटने-मारने से बचें
बच्चों के मिसबिहेव करने पर उनके साथ जोर-जबरदस्ती कर उन्हें सुधारना मुश्किल है। एक शोध में यह पाया गया है कि बच्चों को डांटने या मारने से उनमें सुधार नहीं होता, बल्कि इससे वे और भी जिद्दी और गुस्सैल हो जाते हैं। उनके भीतर उनमें डिप्रेशन और नेगेटिविटी आने लगती है। कई बार वे गलत कदम उठाने लगते हैं। माता-पिता यही चाहते हैं कि उनका बच्चा काबिल बने, उनकी बातें सुनें। ऐसे में कुछ बातों का ध्यान रखकर पैरंट्स बच्चों की पर्सनालिटी से सुधार ला सकते हैं।

बच्चों को दें पर्याप्त समय(Parenting Tips)
यूनीसेफ द्वारा कराई गई एक स्टडी में पाया गया है कि जो पैरेंट्स अपने बच्चे के लिए पर्याप्त समय नहीं निकालते हैं, उनकी परेशानियों को नहीं सुनते हैं, ऐसे बच्चे अपने माता-पिता या अन्य लोगों के साथ मिसबिहेव करने लगते हैं, जिद्दी बन जाते हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, बच्चों को किसी भी फैसिलिटी या खेल-खिलौनों से ज्यादा परिवार यानी पैरेंट्स के साथ और स्नेह की जरूरत होती है। इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि पैरेंट्स समय निकालकर बच्चों से बातें करें, उनकी परेशानियों को जानें -समझें।

बच्चों की करें तारीफ
चाइल्ड साइकोलॉजिस्ट्स का मानना है कि किसी बच्चे की अच्छाइयों की तारीफ करने से वे अच्छे बनने के लिए प्रेरित होते हैं। इससे उनके व्यवहार में परिवर्तन आता है। इसलिए बच्चों की बुरी आदतों को सुधारने और अच्छी आदतों को बढ़ाने के लिए पैरेंट्स को उसकी तारीफ करनी चाहिए। इस तरह उन्हें अच्छा काम करने के लिए मोटिवेशन मिलेगा और वे बुरी आदतों को खुद छोड़ने लगेंगे। 

बच्चों की हमेशा गाइड करें(Parenting Tips)
बच्चे बिल्कुल कोरे कागज की तरह होते हैं। वे जिस बात का अनुभव करते हैं, जिन लोगों से मिलते हैं, उनका अनुभव, उनके मन-मस्तिष्क पर अंकित हो जाता है। इसलिए हर माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वे बच्चों को यह जरूर बताएं कि उनके लिए क्या करना अच्छा है और क्या गलत? इस तरह बच्चे सही दिशा चुन पाएंगे। आपकी गाइडेंस उन्हें सही निर्णय लेने में सक्षम बनाएगा।

बढ़ाएं क्रिएटिविटी
विभिन्न शोधों में यह पाया गया है कि अगर बच्चे को खाली रखने की बजाय क्रिएटिव काम को करने में लगा लिया जाए तो वे कुछ नया करने के लिए एफर्ट करेंगे। इससे उनका दिमाग पॉजिटिव रहेगा और वे अच्छा व्यवहार करेंगे।

यह ना भूलें कि पैरेंट्स के स्नेह और मार्गदर्शन से ही बच्चे के अच्छे व्यक्तित्व का निर्माण होता है। इसलिए इसमें कोई लापरवाही ना बरतें। 

5379487