Logo
election banner
UP Police Paper Leak: यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने पेपर लीक (UP Police Paper Leak) मामले में जांच तेज कर दी है। सोशल मीडिया पर पेपर लीक का दावा करने वाले अभ्यर्थियों और अन्य लोगों से साक्ष्य मांगे गए हैं। 

UP Police Paper Leak: यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने सिपाही भर्ती परीक्षा में पेपर लीक के साक्ष्य 23 फरवरी को शाम 6 बजे तक उपलब्ध कराने का समय दिया है। बोर्ड ने एक्स पर ट्वीट करते हुए कहा कि लिखित परीक्षा के कुछ प्रश्नपत्रों के संबंध में सोशल मीडिया पर वायरल सूचना के बारे में सुसंगत प्रमाण/साक्ष्य अपने प्रत्यावेदन के साथ [email protected] पर ईमेल किए जा सकते हैं।

17 व 18 फरवरी को आयोजित हुई परीक्षा
यूपी में कांस्टेबल भर्ती लिखित परीक्षा 17 व 18 फरवरी को आयोजित की गई थी। परीक्षा के पेपर लीक को लेकर सोशल मीडिया पर लगातार जानकारी साझा की जा रही है। पेपर लीक मामले में भर्ती बोर्ड अभी जांच करा रहा है।

भर्ती बोर्ड का आधिकारिक नोटिस

UP Constable Paper Leak
UP Constable Paper Leak

पेपर लीक की वायरल सूचनाओं की हो रही छानबीन
यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा में पेपर लीक का प्रकरण गंभीर हो गया है। पहले दिन 17 फरवरी को पहली पाली में पेपर लीक होने के आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया पर वीडिया शेयर किए थे। इसके बाद 18 फरवरी को दूसरे दिन परीक्षा खत्म होने तक कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। पेपर लीक की वायरल सूचनाओं की पुलिस जांच कर रही है। 

मामलों में साक्ष्य एकत्र करना शुरू
अभ्यर्थियों की नाराजगी को देखते हुए यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने सोशल मीडिया पर पेपर लीक के मामलों में साक्ष्य एकत्र करने शुरू कर दिए हैं। इसी के तहत साक्ष्य ईमेल करने का समय दिया गया है। 

विपक्ष ने भी पेपर लीक पर उठाए सवाल
इस बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक्स पर पेपर लीक मामले को उठा दिया। राहुल गांधी अपनी भारत जोड़ो न्याय यात्रा में पेपर लीक के मुद्दे को लगातार उठा रहे हैं।

5379487