Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नामांकन करने में पांच मिनट देरी से अधूरे रह गए विधायक बनने के सपने

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) के लिए शुक्रवार को नामांकन (Nomination) प्रक्रिया दोपहर 3 बजे समाप्त कर दी गई थी। लेकिन कई लोग 2 से लेकर 5 मिनट तक देरी से पहुचंने के कारण नामांकन कराने में असफल रहे। इनमें से कई निर्दलीय चुनाव लड़ना चाहते थे और कुछ प्रमुख राजनीतिक दलों से भी थे।

नामांकन करने में पांच मिनट देरी से अधूरे रह गए विधायक बनने के सपनेFive minutes late in filing nominations, dreams of becoming MLA incomplete

Haryana Assembly Election: हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को नामांकन (Nomination) का आखिरी दिन था। विधानसभा चुनाव की 90 सीटों के लिए कुल 1846 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किए। लेकिन फिर भी चुनाव लड़ने की चाहत रखने वाले कई लोग महज दो-चार मिनट देरी से पहुंचने के कारण नामांकन कराने में असफल (Unable To File Nomination) रहे। कई लोग इनमें से निर्दलीय चुनाव लड़ने के इच्छुक थे। तो कुछ लोग प्रमुख राजनीतिक दलों ने संबंधित थे। शुक्रवार दोपहर करीब तीन बजे नामांकन प्रक्रिया समाप्त कर दी गई।

करनाल (Karnal) के निलोखेड़ी विधानसभा सीट व करनाल विधानसभा सीट से नामांकन के लिए तीन लोग देरी से आए। इन तीन में एक तो पूर्व मंत्री रह चुके राजकुमार वाल्मीकि भी थे। दो प्रत्याशी निलोखड़ी और एक करनाल विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के इच्छुक थे। राजकुमार वाल्मीकि ने इस पर कहा कि वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन कराने आए थे। वह समय से आ गए थे लेकिन फाइल चेक कराने के दौरान उनसे कहा गया कि इसे नोटरी से अटेस्ट करवाना होगा। फाइल अटेस्ट कराने के बाद वापस आने में उन्हें दो मिनट की देरी हो गई और उनका नामांकन नहीं हो पाया।

चरखी दादरी (Charkhi Dadri) में भी नामांकन के लिए पहुंचे एक रासीवासी निवासी सतपाल निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ना चाहते थे। वह 3 बजकर 5 मिनट में नामांकन कराने पहुंचे। जिस पर रिटर्निंग अधिकारी संदीप अग्रवाल ने उन्हें बताया कि नामांकन की समयावधि खत्म हो चुकी है और उनका नामांकन पत्र स्वीकार करने से मना कर दिया। इसी तरह जनता पार्टी उम्मीदवार लाल सिंह भी दादरी सीट पर चुनाव लड़ने के लिए नामांकन कराने 3 बजकर 5 मिनट पर पहुंचे और उनका नामांकन पत्र भी स्वीकारा नहीं गया।

हरियाणा मामलों को देखने वाली शिअद की विशेष कमेटी ने भी अंबाला (Ambala) सिटी की सीट पर अपना प्रत्याशी घोषित किया था। लेकिन वो आखिरी समय में चुनाव लड़ने से मुखर गया। जिस कारण अभय चौटाला ने करीब दो बजे फोन करके जंदेड़ी को इंडियन लोकदल प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल करने को कहा। लेकिन 5 मिनट देरी से पहुंचने के कारण उनका भी नामांकन नहीं हो सका।

Next Story
Top