Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हिसार कोर्ट ने रामपाल को किया बरी, भक्तों ने लगाए जयकारे

हिसार के बरवाला में तीन साल पहले हुए विवाद में बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

हिसार कोर्ट ने रामपाल को किया बरी, भक्तों ने लगाए जयकारे

हरियाणा सिरसा के डेरा प्रमुख बलात्कारी बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह पर फैसला आने के बाद अब हरियाणा के बरवाला स्थित सतलोक आश्रम संचालक संत रामपाल पर फैसला आ गया है। संत रामपाल पर चल रहे दोनों केसों में आज हिसार की विशेष अदालत ने उसे बरी कर दिया है। हालांकि हत्या और देशद्रोह का केस जारी रहेगा।

बुधवार को संत रामपाल के खिलाफ दर्ज FIR नंबर 201, 426, 427 और 443 के तहत पेशी हुई थी। कोर्ट ने FIR नंबर 426 और 427 का फैसला सुरक्षित रखा था।
रामपाल पर नंबर 426 के तहत सरकारी कार्यों में बाधा डालने और 427 में आश्रम में लोगों को जबरदस्ती बंदी बनाने का केस दर्ज था। संत रामपाल के अलावा दोनों मामलों में प्रीतम सिंह, राजेंद्र, रामफल, विरेंद्र, पुरुषोत्तम, बलजीत, राजकपूर ढाका, राजकपूर और राजेंद्र भी आरोपी थे।
संत रामपाल अपने आप को कबीरपंथी कहता है और इनको देशद्रोह के केस में जेल में बंद किया गया था। 2006 में रामपाल पर हत्या का केस दर्ज हुआ था।
गौरतलब है कि रामपाल दास का जन्म हरियाणा के सोनीपत के गोहाना तहसील के धनाना गांव में हुआ था। 1995 में उसने नौकरी से इस्तीफा दे दिया था और सत्संग करने लगा था। कमला देवी नाम की महिला द्वारा रामपाल महाराज को आश्रम के लिए जमीन दे दी। और 1999 में उसने सतलोक आश्रम का निर्माण किया।
Next Story
Share it
Top