Logo
election banner
UP Police Constable Exam: उत्तर प्रदेश में आयोजित हुई पुलिस कांस्टेबल भर्ती में अब नया खुलासा हुआ है। 18 फरवरी को पकड़े गए एक आरोपी पर दर्ज एफआईआर में वादी निरीक्षक ने सरकारी दस्तावेज में माना कि सुंयोजित तरीके से प्रश्न पेपर लीक किया गया, जो कि अपराध की श्रेणी में आता है। 

UP Police Constable Exam: एक तरफ पुलिस भर्ती बोर्ड आधिकारिक रूप से पुलिस परीक्षा में पेपर लीक की खबरों को स्वीकार नहीं कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया में छात्रों ने ऐसे कई साक्ष्य दिखाए हैं, जो परीक्षा बोर्ड के दावों पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

पेपर लीक को लेकर FIR दर्ज
लखनऊ के एक थाने में 18 फरवरी को खुद पुलिस ने परीक्षा में नकल करते हुए एक आरोपी के लिए एफआईआर दर्ज की थी। इसमें निरीक्षक रामबाबू सिंह ने सरकारी दस्तावेज में माना कि सुंयोजित तरीके से प्रश्न पेपर लीक किया गया, जो कि अपराध की श्रेणी में आता है।

पकड़े गए आरोपी ने किया खुलासा
लखनऊ में नकल करते पकड़े गए एक अभ्यर्थी सत्य अमन कुमार ने पुलिस को पूछताछ में खुलासा किया था कि उसके दोस्त नीरज ने व्हॉट्सएप पर उसे पेपर परीक्षा से पहले ही भेज दिया था, जिसकी पर्ची उसने तैयार की थी। पुलिस ने पूछताछ के बाद अभ्यर्थी को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया है। 

नाराज अभ्यर्थियों ने दिखाए पेपर लीक के सबूत
सिपाही भर्ती परीक्षा का पेपर लीक मामलें में लखनऊ के इको गार्डन पर नाराज अभ्यर्थी प्रदर्शन कर रहे है। अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया पर आए पेपर के सबूत भी दिखाएं। छात्रों के साथ कई टीचर भी इस प्रदर्शन में शामिल है। सभी की मांग है कि पेपर लीक की जल्द से जल्द जांच हो और पेपर दोबारा करवाया जाएं।

दोनों दिनों की दूसरी शिफ्ट का पेपर लीक का दावा
अभ्यर्थियों का कहना है कि दो दिन की चार पाली में हुई इस भर्ती परीक्षा में 17 और 18 फरवरी की दूसरी शिफ्ट का पेपर लीक हुआ है। 18 फरवरी की शाम 3 से 5 की पाली में हुए प्रश्न पत्र तमाम अभ्यर्थियों के पास और कोचिंग टीचर्स के पास टेलीग्राम के जरिए पहले ही पहुंच गए थे।

jindal steel Ad
5379487