logo
Breaking

DGP के आदेश के बाद SP माथुर ने भंग किया क्राइम ब्रांच

पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी के आदेश के बाद एसपी पारुल माथुर ने मुंगेली जिले के क्राइम ब्रांच को भंग कर दिया है। जिसके बाद संबंधित सभी अधिकारी और कर्मचारियों को रक्षित केंद्र में पदस्थ किया गया है। क्राइम ब्रांच में पदस्थ एक सहायक उपनिरीक्षक, एक प्रधान आरक्षक और पांच आरक्षकों को लाइन अटैच कर दिया गया है।

DGP के आदेश के बाद SP माथुर ने भंग किया क्राइम ब्रांच

पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी के आदेश के बाद एसपी पारुल माथुर ने मुंगेली जिले के क्राइम ब्रांच को भंग कर दिया है। जिसके बाद संबंधित सभी अधिकारी और कर्मचारियों को रक्षित केंद्र में पदस्थ किया गया है। क्राइम ब्रांच में पदस्थ एक सहायक उपनिरीक्षक, एक प्रधान आरक्षक और पांच आरक्षकों को लाइन अटैच कर दिया गया है।

बता दें लूट, चोरी, डकैती जैसे संगीन अपराधों पर नियंत्रण लगाने के लिए क्राइम ब्रांच का गठन किया गया था। शुरू में क्राइम ब्रांच ने सफलता पूर्वक कई मामले तो सुलझाए लेकिन बाद में धीरे—धीरे इसकों लेकर लोगों की शिकायतें भी आने लगी।
अपनी कार्यप्रणाली को लेकर सुर्खियों में रहा मुंगेली क्राइम ब्रांच में कई बार ऐसे मामले सामने आए हैं जिसमें ब्रांच पर वसूली और जबरदस्ती धमकाने के भी आरोप लगे हैं। जिसके बाद उद्देश्य पूर्ति के बदले उलटा पुलिस की ही शिकायतें उन्हीं के आला अधिकारियों को मिलने लगी थी। क्राइम ब्रांच की टीम महज जुआ-सट्टा ऐसे ही छोटे मामलों को सुलझाने तक ही सीमित रह गई।
पुलिस विभाग की कमान महानिदेशक डीएम अवस्थी के हाथ आते ही उन्होंने अपना पदभार ग्रहण करने के साथ ही पूरे प्रदेश में क्राइम ब्रांच टीम को भंग करने का आदेश जारी कर दिया।
Share it
Top