Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

UP Board ने प्रायोगिक परीक्षा के पैटर्न में किया बदलाव, CBSE की तर्ज पर होगा पेपर

उत्तर प्रदेश बोर्ड (UP Board) ने प्रायोगिक परीक्षा (Practical Exam) के पैटर्न में बदलाव किया है। बोर्ड ने 12वीं क्लास की प्रायोगिक परीक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की तर्ज पर कराने का फैसला किया है।

UP Board ने प्रायोगिक परीक्षा के पैटर्न में किया बदलाव, CBSE की तर्ज पर होगा पेपर

उत्तर प्रदेश बोर्ड (UP Board) ने प्रायोगिक परीक्षा (Practical Exam) के पैटर्न में बदलाव किया है। बोर्ड ने 12वीं क्लास की प्रायोगिक परीक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की तर्ज पर कराने का फैसला किया है।

बोर्ड विज्ञान प्रगति अधिकारी डॉ. दिनेश कुमार ने बताया कि बोर्ड ने फिजिक्स, बायोलॉजी और केमिस्ट्री तीनों विषयों के प्रायोगिक परीक्षा के पेपर में बदलाव किया है।

यह भी पढ़ेंः UP Board: बोर्ड का बड़ा फैसला, अब लखनऊ की कॉपियों पर भी होगी बार कोडिंग

अब इंटर के सभी विद्यार्थी को प्रायोगिक अलग-अलग कराना होगा। बायोलॉजी की प्रायोगिक परीक्षा 10-10 के ग्रुप में होगी। एक ग्रुप को एक पेपर मिलेगा। केमिस्ट्री के प्रायोगिक पेपर में विद्यार्थियों को विकल्प सवालों में से चुनकर प्रैक्टिकल करना होगा।

एक ग्रुप का पेपर एक बार में लिया जाएगा, पहले ग्रुप का प्रायोगिक समाप्त होने पर दूसरे ग्रुप को बुलाया जाएगा। बायोलॉजी में अधिकतर प्रैक्टिकल जैव प्रौद्योगिकी पर आधारित होगा।

जीव विज्ञान में दस-दस छात्रों के ग्रुप को एक प्रयोग दिया जाएगा। एक ग्रुप द्वारा प्रयोग खत्म करने के बाद ही दूसरे ग्रुप को आमंत्रित किया जाएगा। इस बार पर्यावरण की स्वच्छता के बारे में अधिक ध्यान दिया है।

यह भी पढ़ेंः यूपी पुलिस और पीएसी कांस्टेबल भर्ती की नई तिथि हुई घोषणा, इस दिन से करें अप्लाई

फिजिक्स में इस बार क, ख, दो खंडों में 20 प्रैक्टिकल होंगे। पहले बिना खंड के 15 प्रैक्टिकल होते थे। खंड क में प्रकाशिकी और खंड ख में बिजली से प्रैक्टिकल करना होगा।

बोर्ड ने प्रोजेक्ट कार्य को काफी आसान कर दिया गया है। अपने दैनिक जीवन संबंधित पूरे कोर्स में से कोई एक प्रैक्टिकल विद्यार्थियों करना होगा। इसका फैसला विद्यार्थी स्वयं करेंगे।

Next Story
Top