Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब स्कूलों में छात्रों को पढ़ाया जाएगा ट्रैफिक नियमों का पाठ

ट्रैफिक टीचर यातायात के महत्वपूर्ण 11 संकतों, तीन चिंन्हो के बारे में बताएंगे।

अब स्कूलों में छात्रों को पढ़ाया जाएगा ट्रैफिक नियमों का पाठ

अधिकतर बच्चे बाइक से स्कूल जाने लगे हैं, पर उन्हें यायातात के नियम और सुरक्षि ड्राइविंग के बारे में जानकारी नहीं है। ऐसे में उनके साथ रोड एक्सीडेंट का खतरा हमेशा बना रहता है।

साथ ही सिटी का यातायात व्यवस्था भी गड़बड़ा जाता है। ऐसे में स्कूली छात्र-छात्रओें को महत्वपूर्ण ट्रैफिक संकेतकों, चिन्हों व यातायात नियमों का पालन व महत्व के बारे में जानकारी दिया जाना जरूरी हो गया है।

इसलिए यातायात विभाग ने यह निर्णय लिया है कि वे शहर के हर स्कूलों के लिए प्रशिक्षण कैलेंडर बनाएगी और ट्रैफिक टीचर या एकस्पर्ट अलग से 45 मिनट की क्लास लेकर स्टूडेंट्स को नियमों का पाठ पढ़ाएंगे।

ये भी पढ़े- रैगिंग हुई तो संस्थान में दाखिले पर लगेगी रोक: UGC

यह जानकारी यातायात विभाग के ट्रैफिक टीचर टीके भोई ने दी। श्री भोई ने बताया की इसके लिए स्कूल प्रबंधन से बात की गई है। जिसको लेकर स्कूलों ने हामी भरी है।

प्रार्थना में बताते हैं यातायात नियम

हर शनिवार को मार्निंग असेंबली या स्कूल की सुबह की प्रार्थन के वक्त ट्रैफिक रूल्स व सुरक्षित ड्राइव के बारे में स्टूडेंंट्स को बताते हैं और पालन करने को कहते हैं।

यातायात विभाग की इस पहल से स्टूडेंट्स की ट्रैफिक नियम के बारे में समझ बढ़ेगी। साथ ही आने वाले समय में यातायाता व्यवस्था में सुधार और सेफ्टी ड्राइव में बढ़ोत्तरी होगी।-

प्राचार्य वीके सिंह ने कहा स्कूल में समय समय पर यातायात जागरूकता को लेकर वर्कशॉप करते रहते हैं। साथ ही टीचर्स द्वारा ट्रैफिक नियम के पालन करने से गंभीर सड़क हादसे के शिकार होने के बावजूद सही सलामत बचे लोगों के उदाहरण देकर यातायता नियम के प्रति स्टूडेंट्स को जागरूक करते रहते हैं।

ये भी पढ़े- पढ़ाई के लिए दिल की बात सुने और करें मेहनत: EXPERT

स्टूडेंट़स सुरक्षित ड्राइव को जाने व पालन करें, इसके लिए यातायात विभाग के द्वारा किए जा रहे पहल का हम स्वागत व सहयोग दोनो करेंगे।

जे.एन. पांडेय स्कूल के प्राचार्यों एमआर सावंत का कहना है कि अपने बच्चों को बाइक से स्कूल निकलते वक्त या कहीं भी बाइक ड्राइव करते वक्त पैरेंट़स को उन्हें हेलमेट लगाने के लिए बोले।

साथ ही यातायात नियमों का सड़क पर पालन करने को कहें, इससे बच्चों में प्रभाव अच्छे से पड़ेगा। अपने बच्चों को यातायात के प्रति अवेयर करने की जिम्मेदारी बनता है।

स्कूल में लगेंगे ट्राफिक नियम प्रशिक्षण कैलेंडर

ट्रैफिक प्रशिक्षण कैलेंडर के आधार पर ट्रैफिक टीचर यातायात के महत्वपूर्ण 11 संकतों, तीन चिंन्हो के बारे में बताएंगे। यातायात नियम कानून, सेफ्टी

ड्राइविंग, यह हेलमेट, राइट रांग साइड, लाइसेंस क्यों जरूरी है आदि यातायात से जुड़े हर पहलूओं पर प्रैक्टिकली, वीडियों क्लिपिंग, प्रोजेक्टर, माइक के द्वारा बताया जाएगा।

सेफ्टी ड्राइवर्स की संख्या में होगी बढ़ोत्तरी, कम होंगे एक्सीडेंट्स

यातातया विभाग का मानना है कि स्टूडेंट्स को इस तरह से ट्राफिक रूल्स के प्रति अवेयर करने से भविष्य में सेफ्टी ड्राइवर्स की संख्या में बढ़ जाएगी।

यातायात के नियमों का पूर्ण ज्ञान होने पर वे यातायात नियम नहीं तोड़ेंगे साथ ही सुरक्षित ड्राइव होगा।इससे यातायात अव्यवस्था और रोड़ एक्सीडेंट्स की न के बराबर होंगे।

एएसपी ट्रैफिक बलराम हिरवानी ने स्कूल प्रबंधन से मीटिंग के दौरान कहा कि ट्राफिक नियम के सिखान के लिए बच्चों के पास जाएंगे। और बच्चों की पूरक परीक्षाओं के दौर खत्म होने के बाद शिविर लगाकर उन्हें यातायात कानून के बारे में बताया जाएगा।

Next Story
Top