Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छ्त्तीसगढ़ के रविंशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही, परीक्षा खत्म होने तक छात्रों को जारी नहीं हुआ एडमिट कार्ड

प्रदेश का सबसे बड़ा पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय एनआईसी से परेशान हो गया है। रविवि की वार्षिक परीक्षाएं खत्म होने को हैं, लेकिन एनआईसी अब तक प्रवेशपत्र ही जारी नहीं कर सकी।

छ्त्तीसगढ़ के रविंशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही, परीक्षा खत्म होने तक छात्रों को जारी नहीं हुआ एडमिट कार्ड

प्रदेश का सबसे बड़ा पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय एनआईसी से परेशान हो गया है। रविवि की वार्षिक परीक्षाएं खत्म होने को हैं, यही नहीं, कुछ संकायों के परीक्षा परिणाम भी घोषित कर दिए गए, इन सबके बाद भी एनआईसी अब तक प्रवेशपत्र ही जारी नहीं कर सकी।

ऑनलाइन कामों में आ रही दिक्कतों के कारण अब एनआईसी के बजाय कोलकाता की कंपनी को ठेका दे दिया गया है। एनआईसी की कार्यप्रणाली से न केवल विश्वविद्यालय प्रबंधन, बल्कि छात्र भी परेशान हो गए हैं।

यह भी पढ़ेंः UPSC 2017 Final Results: यूपीएससी सिविल सर्विस फाइनल का रिजल्ट घोषित, हैदराबाद के अनुदीप ने किया टॉप

रविवि की कंपनी को ठेका दे दिया गया है, लेकिन अभी तक कार्यों के हैंडओवर नहीं होने के कारण कई तरह की समस्याएं आ रही हैं। डिग्री के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा चार माह से बंद है।

दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों को ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध न होने के कारण रविवि आकर ऑफलाइन अावेदन करना पड़ रहा है। कुछ अन्य सुविधाओं का भी यही हाल है।

अब भी परीक्षा फॉर्म का सहारा

छात्रों को प्रवेशपत्र उपलब्ध न होने पर उनके लिए वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए परीक्षा फॉर्म की कॉपी व मूल पहचानपत्र दिखाकर परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान की गई थी।छात्रों से कहा गया था कि ये वैकल्पिक व्यवस्था है।

यह भी पढ़ेंः तेलंगाना एसएससी रिजल्ट 2018: तेलंगाना बोर्ड के 10वीं के नतीजे जारी, ऐसे करें चेक

प्रवेशपत्र जल्द ही प्रदान कर दिए जाएंगे, लेकिन पूरी परीक्षाएं बीतने के बाद भी प्रवेशपत्र जारी नहीं हो सके। इसके पूर्व परीक्षा फॉर्म भरने, नामांकन व अन्य कार्याें में भी तकनीकी दिक्कतें आई थीं।

इसके लिए रविवि को हेल्पडेस्क भी लगाना पड़ा था। सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए आवेदन शीघ्र ही प्रारंभ होने हैं। ऐसे में विश्वविद्यालय प्रबंधन इस कोशिश में जुटा है कि सभी कार्य कोलकाता की कंपनी के सुपुर्द हो जाएं।

(भाषा-इनपुट)

Next Story
Top