Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

JEE Main 2019 Syllabus: जेईई मेन्स 2019 सिलेबस और जेईई मेन्स 2019 एडमिट कार्ड डाउनलोड लिंक

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (National Testing Agency) यानी एनटीए (NTA) ने ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (Joint Entrance Examination) यानी जेईई (JEE) जेईई मेन्स 2019 (JEE Main 2019) एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया है। जेईई मेन का एडमिट कार्ड डाउनलोड (jee main admit card 2019 download) करने के लिए उम्मीदवार JEE Main की ऑफिशियल वेबसाइट jeemain.nic.in पर जा सकते हैं।

JEE Main 2019 Syllabus: जेईई मेन्स 2019  सिलेबस और जेईई मेन्स 2019 एडमिट कार्ड डाउनलोड लिंक

Jee Main 2019 Syllabus JEE Main Admit Card 2019

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (National Testing Agency) यानी एनटीए (NTA) ने ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (Joint Entrance Examination) यानी जेईई (JEE) जेईई मेन्स 2019 (JEE Main 2019) एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया है। जेईई मेन का एडमिट कार्ड 2019 डाउनलोड (jee main admit card 2019 download) करने के लिए उम्मीदवार JEE Main की ऑफिशियल वेबसाइट jeemain.nic.in पर जा सकते हैं। जेईई मेन की परीक्षा की डेट 2019 (Jee Main Exam Date 2019) की बात करें तो जेईई मेन परीक्षा 2019 (Jee Main Exam 2019) 8 से 12 जनवरी तक होंगी। जेईई मेन 2019 सिलेबस (Jee Main 2019 Syllabus) की बात करें तो जेईई मेन पेपर-1 (Jee Exam Paper 1) का आयोजन 9 से 12 जनवरी 2019 तक किया जाएगा वहीं जेईई मेन पेपर-2 (Jee Exam Paper 2) का आयोजन 8 जनवरी 2019 को किया जाएगा। जेईई मेन्स 2019 (JEE Main 2019) की यह परीक्षाएं रोजाना दो सत्रों में होगी। जेईई मेन 2019 की परीक्षा कंप्यूटर आधारित होगी और परीक्षा का आयोजन साल में दो बार (जनवरी और अप्रैल) होगा। स्टूडेंट्स के पास दोनों में से एक या दोनों बार होने वाली परीक्षा में बैठने का विकल्प होगा। दोनों बार में परीक्षा का आयोजन 14 दिनों तक होगा और हर दिन कई सत्र होंगे। इस तरह की व्यवस्था परीक्षा के दौरान धोखाधड़ी और गड़बड़ी को काफी हद तक रोकने के उद्देश्य से की गई है। एग्जाम अगले माह जनवरी में होगा। इसके लिए आपके पास अब करीब एक महीने से कम का समय है। इस दौरान अगर स्मार्ट स्ट्रेटेजी के साथ एग्जाम की तैयारी करते हैं, तो इसमें कामयाबी हासिल की जा सकती है। आपके लिए बहुत यूजफुल सजेशंस-

ऐसे करें प्रिपरेशन

जेईई की तैयारी के लिए आखिरी महीना स्टूडेंट्स के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण होता है। रिवीजन के इस दौर में कभी-कभी उनका आत्मविश्वास कम होने लगता है और वे एग्जाम को लेकर परेशान होने लगते हैं। जबकि इस मुश्किल समय में घबराने की बजाय पूरी स्ट्रेटेजी बनाकर रिवीजन पर ध्यान देना चाहिए, ताकि सभी महत्वपूर्ण चैप्टर्स को एग्जाम से पहले दोहराया जा सके। इस समय कैंडिडेट्स को ऐसी स्ट्रेटेजी बनानी चाहिए, जिससे वे कम समय में अधिक से अधिक सब्जेक्ट सिलेबस को कवर कर सकें।

फिजिक्स में हाई स्कोरिंग

फिजिक्स में हाई स्कोर हासिल करने के लिए कॉन्सेप्ट को अच्छी तरह समझना बेहद जरूरी है, क्योंकि इस एग्जाम में ज्यादातर क्वेश्चंस कॉन्सेप्ट पर ही आधारित होते हैं। विजुअलाइजेशन के साथ-साथ एनालिटिकल स्किल भी महत्वपूर्ण होता है। इसलिए किसी भी चैप्टर को पढ़ते समय महत्वपूर्ण फॉर्मूले ध्यान में रखें। कुछ ऐसे शॉर्टकट ट्रिक्स को याद कर लें, जिससे आप व्यवस्थित रूप से हर चैप्टर को याद रख सकें। इससे एग्जाम में आपको काफी मदद मिलेगी। इसके अलावा, ज्यादा से ज्यादा संख्या में सवालों का प्रैक्टिस करें। रिवीजन ऐसा हो, जिसमें अच्छे स्कोर की संभावना सबसे ज्यादा हो। इस एग्जाम के लिहाज से देखें, तो ऑप्टिक्स, इलेक्ट्रिसिटी और मैग्नेटिज्म ऐसे चैप्टर हैं, जिनसे ज्यादा मार्क्स के क्वेश्चंस आते हैं। इनकी अनदेखी बिल्कुल नहीं करनी चाहिए।

केमिस्ट्री में बढ़ाएं एक्यूरेसी

इस सब्जेक्ट की स्मार्ट तैयारी के लिए एनसीईआरटी की बुक्स की पूरी स्टडी जरूरी है, क्योंकि ये पूरे कोर्स को कवर करती हैं और आमतौर पर पेपर भी इन्हीं बुक्स से सेट किए जाते हैं। हर चैप्टर के अंत में दिए गए प्रैक्टिस को सॉल्व करने से आप कॉन्सेप्ट को अच्छी तरह समझ और याद रख सकेंगे। बहुत सारी बुक्स को पढ़ने से बचें, क्योंकि इससे जहां एक ओर समय की बर्बादी होती है, वहीं बाजार में उपलब्ध कई बुक्स आपको भ्रमित भी कर सकती हैं। ऑर्गेनिक और इन-ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के चैप्टर्स पर बराबर ध्यान दें और गति बढ़ाने के लिए रोजाना न्यूमेरिकल्स के सवालों को सॉल्व करें।

मैथमेटिक्स

मैथ को अकसर फिजिक्स और केमिस्ट्री से कम समय दिया जाता है,क्योंकि इसका ज्यादातर हिस्सा 12वीं बोर्ड की तैयारी में ही कवर हो जाता है। फिर भी मैथ के पाठ्यक्रम पर फोकस बनाए रखना जरूरी है। महत्वपूर्ण चैप्टर्स, जैसे- वेक्टर्स, अल्जेबरा और कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री पर विशेष ध्यान दें। लगातार प्रैक्टिस से आप सब्जेक्ट पर मजबूत पकड़ बना सकेंगे। इसके अलावा,पिछले वर्षों के क्वेश्चन पेपर्स को सॉल्व करना भी फायदेमंद हो सकता है।

डाउटफुल क्वेश्चंस से बचें

एग्जाम में ऐसे सवालों पर समय बर्बाद नहीं करना चाहिए, जो डाउटफुल हों और जिन्हें सॉल्व करने में ज्यादा समय लगता हो। हर गलत जवाब पर नेगेटिव मार्किंग की संभावना हमेशा रहती है। इसलिए सुझाव यही है कि ऐसे क्वेश्चंस पर टाइम वेस्ट करने की बजाय ऐसे सवाल हल करें, जिनमें स्कोर की संभावना अधिक हो और जिससे आपका आत्मशविश्वाम भी बढ़े। पिछले वर्षों की परीक्षा में आए सवालों को हल करना हमेशा सबसे अच्छी शुरुआत माना जाता है। इसलिए मात्रा की बजाय क्वालिटी पर ध्यान दें।

रिवीजन पर कंसंट्रेशन

एग्जाम से पहले के आखिरी दिनों में कोचिंग की बजाय खुद से रिवीजन करना बेहतर है। पढ़ाई के तनाव से भी खुद को संभालना होगा, तभी अच्छी तरह से तैयारी कर पाएंगे। एक अच्छे कैंडिडेट की यही निशानी भी है कि अपनी मजबूतियों और कमजोरियों को ध्यान में रखते हुए योजना बनाएं। इस समय स्टूडेंट्स हर चैप्टर की कॉन्सेप्ट के अनुसार उसके लिए समय निर्धारित करें। अगर इन सुझावों के साथ योजनापूर्वक आप तैयारी पर ध्यान देते हैं, तो निश्चित रूप से इस परीक्षा में कामयाबी हासिल करना कठिन नहीं होगा।

जेईई मेन्स 2019 ऐप्स (JEE Main 2019 Apps)

अगर आप फॉर्मूले को याद रखते हैं, तो फिर एग्जाम में सवालों को सॉल्व करना आसान हो जाता है। फॉर्मूले को याद रखने में कुछ एप्स आपकी मदद करेंगे।

मैथ्स फॉर्मूला फ्री: मैथ्स से जुड़े फॉर्मूले के लिए इस एप की मदद ले सकते हैं। यहां आपको ज्योमेट्री, अल्जेब्रा, ट्रिगोनोमेट्री, इक्वेशंस, एनालिटिक ज्योमेट्री, इंटीग्रेशन,मैट्रिक्स, प्रोबेबिलिटी एंड स्टैटिस्टिक्स आदि से जुड़े फॉर्मूले मिल जाएंगे। इसके साथ, ज्योमेट्री शेप्स को कैलकुलेट करने के लिए यहां इससे जुड़े टूल्स भी दिए गए हैं। आप सवालों को आसानी से सॉल्व कर सकें, इसके लिए मैथ ट्रिक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एप 36 लैंग्वेज को सपोर्ट करता है, जिसमें हिंदी भी शामिल है। इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

पीरियॉडिक टेबल 2018: केमिस्ट्री में अच्छे मार्क्स के लिए बहुत जरूरी है कि आपको पीरियॉडिक टेबल की अच्छी जानकारी हो। यह पीरियॉडिक टेबल से जुड़ा एक उपयोगी एप है। यहां जब आप किसी एलिमेंट पर क्लिक करेंगे, यह उसके बारे में आपको नए अपडेट के साथ पूरी जानकारी मुहैया कराता है। हर एलिमेंट इमेज के साथ है, जिससे आपको चीजों को समझने में आसानी होगी। अगर किसी एलिमेंट से जुड़ी और अधिक जानकारी चाहिए तो यहां पर उससे जुड़े उपयोगी लिंक्स भी मिल जाएंगे। यहां पर आइटम्स को 10 कैटेगरी में बांटा जा सकता है। यह गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।

फॉर्मूला लाइट: यह स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी एप है, जिसमें मैथ्स के साथ फिजिक्स और केमिस्ट्री से जुड़े फॉर्मूले भी दिए गए हैं। यहां पर इन सब्जेक्ट्स से जुड़े फॉर्मूले का बड़ा कलेक्शन है, जिसे आसानी से सर्च भी कर पाएंगे। यह इस्तेमाल करने में भी आसान है। इसके साथ यहां पर साइंटिफिक कैलकुलेटर भी मिल जाएगा। अच्छी बात यह है कि इन तीनों सब्जेक्ट्स से जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स भी यहां दिए गए हैं, जो आपके लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं। यह एप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।

JEE Main 2019 Introduction

Joint Entrance Examination (JEE) MAIN will be conducted by the NTA from 2019 onwards. This Examination was being conducted by the Central Board of Secondary Education (CBSE) till 2018. JEE Main 2019 is applicable for admission to NITs, IIITs and CFTIs participating though Central Seat Allocation Board subject to the condition that the candidate should have secured at least 75% marks in the 12th class examination, or be in the top 20 percentile in the 12th class examination conducted by the respective Boards. For SC/ST candidates the qualifying marks would be 65% in the 12th class examination.

Next Story
Top