logo
Breaking

शिक्षकों के विकास के लिए HRD ने शुरू किया ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने उच्च-शिक्षा के 1.5 मिलियन शिक्षकों के विकास के लिए एक ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स की शुरुआत की है।

शिक्षकों के विकास के लिए HRD ने शुरू किया ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने उच्च-शिक्षा के 1.5 मिलियन शिक्षकों के विकास के लिए एक ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स की शुरुआत की है। इसमें शिक्षकों को उनसे संबंधित विषयों के पठन-पाठन में वर्तमान दौर में हो रहे तकनीकी बदलावों के हिसाब से प्रशिक्षित किया जाएगा।

मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इसके पहले चरण में देश में मौजूद 75 नेशनल रिसोर्स सेंटरों (एनआरसी) के तहत आने वाले उच्च-शिक्षण संस्थानों को अलग-अलग विषयों पर ऑनलाइन ट्रेनिंग सामग्री को तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इनमें दिल्ली, हरियाणा, छत्तीसगढ़ और मध्य-प्रदेश के कुल 22 संस्थान शामिल हैं। फैकेल्टी को यह सामग्री मंत्रालय के ‘स्वयं पोर्टल’ के जरिए पढ़ने को मिलेगी। यह कोर्स करने के लिए शिक्षकों को अपने हिसाब से समय चुनने की आजादी होगी।

यह भी पढ़ेंः CSVTU की लापरवाही, इंजीनियरिंग की एग्जाम में आउट ऑफ सिलेबस आया पेपर, परीक्षा रद्द

सेवारत शिक्षकों पर लागू

इस ऑनलाइन कोर्स की मदद से सभी सेवारत शिक्षकों को उनके विषयों से जुड़े हुए तात्कालिक बदलावों को तकनीक की मदद से समझने का मौका मिलेगा। एनआरसी इसके लिए एक रिफ्रेशर मॉड्यूल बनाएगा। जिसमें तय किए गए विषय के लेटेस्ट ट्रेंड हर साल 15 जून तक अपलोड किए जाएंगे।

हर साल एक अक्टूबर तक शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण मटीरियल अपलोड किया जाएगा। इसके बाद कोर्स को लेकर आयी प्रतिक्रिया के आधार पर हर साल की शुरुआत यानि जनवरी में पाठ्यक्रम को दोहराया जाएगा।

एनआरसी सर्टिफाइड फैकेल्टी की सूची 31 दिसंबर 2018 को जारी करेगा। इसके बाद यूजीसी कैरियर प्रोग्रेशन और एपीआई के लिए आदेश, नियम जारी करेगी।

यह भी पढ़ेंः पीईटी 2018: 86 फीसदी छात्रों ने दिया पीईटी का एग्जाम, मैथ्स और फिजिक्स ने किया परेशान

शामिल हुए संस्थान और विषय

चुने हुए संस्थानों में केंद्रीय विवि, आईआईटी, एनआईटी, आईआईएससी, आयसर, राज्य विवि शामिल हैं। इसमें दिल्ली का न्यूपा, दिल्ली विवि (हिस्ट्री), जामिया मिलिया इस्लामिया विवि (जेंडर/विमेन स्टडीज), इग्नु (लाइब्रेरी एंड इनफारमेशन साइंस), श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज (केमेस्ट्री), श्री लाल बहादुर शास्त्री संस्कृत विद्यापीठ (मेथडालॉजी ऑफ टीचिंग संस्कृत), रामानुजन कॉलेज (ह्युमन राइटस, इनवारमेंट एंड एथिक्स) शामिल है।

हरियाणा का कुरुक्षेत्र विवि (लॉ), गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (पेडागाजिकल इनोवेशंस एंड रिसर्च मेथडोलॉजी), एनआईटीटीटीआर, चंड़ीगढ़ (इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग), सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हरियाणा (पर्सनल-इमोश्नल डिवलपमेंट एंड काउंसलिंग) शामिल है।

छत्तीसगढ़ की पंडित रविशंकर शुक्ला यूनिवर्सिटी, रायपुर (साइकोलॉजी), गुरु घासीदास यूनिवर्सिटी जीजीयू कैंपस, बिलासपुर (लाइफ साइंसेज) शामिल है।

इसके अलावा मध्य-प्रदेश की डॉ़ हरिसिंह गौर विवि (सोशल एंड रूलर डेवलपमेंट, जूलॉजी), रानी दुर्गावती विवि, जबलपुर (पॉलटिकल साइंस), आईआईआईटीडी एंड एम जबलपुर (डिजाइन), आईआईआईटीएम ग्वालियर (ऑपरेशंस मैनेजमेंट, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, इनोवेशन मैनेजमेंट), एनआईटीटीटीआर, भोपाल (अस्सिमेंट एंड इवोल्यूशन), आयसर भोपाल (इनफारमेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी इन साइंस एंड मैथ्स टीचिंग), एनआईटीटीटीआर भोपाल (अस्सिमेंट एंड एवेल्यूएशन) शामिल है।

Share it
Top