Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ सरकार ने किया बड़ा बदलाव, कॉलेज विद्यार्थियों को अब टैबलेट के बदले मिलेंगे मोबाइल

तकनीकी कॉलेजों में पढ़ने वाले अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को तो लैपटॉप इस साल भी मिलेंगे, लेकिन बाकी संकायों के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए यह बुरी खबर है कि इस साल उन्हें टैबलेट नहीं मिलेंगे।

छत्तीसगढ़ सरकार ने किया बड़ा बदलाव, कॉलेज विद्यार्थियों को अब टैबलेट के बदले मिलेंगे मोबाइल

प्रदेश के तकनीकी कॉलेजों में पढ़ने वाले अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को तो लैपटॉप इस साल भी मिलेंगे, लेकिन बाकी संकायों के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए यह बुरी खबर है कि इस साल उन्हें टैबलेट नहीं मिलेंगे।

इसी के साथ सभी विद्यार्थियों के लिए यह खुशी की खबर है कि प्रथम वर्ष से अंतिम वर्ष तक किसी भी संकाय में पढ़ने वालों को संचार क्रांति योजना (स्काई) में मोबाइल मिलेंगे।

प्रदेश सरकार पांच लाख विद्यार्थियों को विकास यात्रा में मोबाइल बांटने वाली है। इसके लिए कॉलेजों में आवेदन भी भरवाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः खुशखबरीः लड़कियों के लिए 31 सरकारी कॉलेज शुरू करेगी हरियाणा सरकार, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया से सभी को जोड़ने की मुहिम के तहत चार साल पहले 2015 में कॉलेज के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को लैपटॉप और टैबलेट देने की योजना प्रारंभ की थी।

इसमें पहले साल 50 हजार को इसका वितरण किया गया। इसके बाद से यह योजना पिछले साल तक चलती रही, लेकिन इस योजना में एक बदलाव यह किया गया कि लैपटॉप और टैबलेट के स्थान पर विद्यार्थियों को पैसा दिया जाने लगा।

अाज भी सैकड़ों विद्यार्थियों को इसका पैसा भी नहीं मिल सका। अब सरकार ने इस सत्र में योजना में बदलाव कर दिया है और तकनीकी शिक्षा के विद्यार्थियों को छोड़कर बाकी सभी को मोबाइल देने का फैसला किया गया है।

यह भी पढ़ेंः हाईकोर्ट का PSC को निर्देश, वैज्ञानिक ऑफिसरों के पदों पर आवेदन पत्र होंगे मैनुअली स्वीकार

कॉलेजों में लगी भीड़

संचार क्रांति योजना में प्रदेश सरकार ने 55 लाख मोबाइल बांटने की योजना बनाई है। इसमें 50 लाख मोबाइल तो ग्रामीण क्षेत्रों में बांटे जाएंगे, बाकी के पांच लाख मोबाइल कॉलेज के विद्यार्थियों को दिए जाने हैं।

कॉलेजों के विद्यार्थियों को दिए जाने वाले मोबाइल के लिए कॉलेजों में फार्म जमा करवाए जा रहे हैं। इस फार्म में भी विद्यार्थियों से उनके बैंक के खातों का नंबर लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः CGBSE Result 2018: टॅापर शिवकुमार पांडेय बनना चाहता है क्रिकेटर, जानें वजह

अगर विद्यार्थियों को किसी कारण से मोबाइल नहीं मिल पाएंगे, तो मोबाइल की तय कीमत की राशि उनके खातों में भेजी जाएगी। कॉलेजों में फार्म भरने के लिए भीड़ लगी है।

इस योजना का लाभ लेने वाले प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी तो खुश हैं, लेकिन अंतिम साल के विद्यार्थियों में निराशा है, क्योंकि उन्हें भी टैबलेट की उम्मीद थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top