Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CBSE ने बदला पासिंग पैटर्न, 10वीं बोर्ड परीक्षा पास करना अब होगा आसान

सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड की पासिंग स्कीम में परिवर्तन किए हैं। विशेष यह है कि यह बदलाव इस शैक्षणिक सत्र से ही लागू होगा।

CBSE ने बदला पासिंग पैटर्न, 10वीं बोर्ड परीक्षा पास करना अब होगा आसान

सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड की पासिंग स्कीम में परिवर्तन किए हैं। विशेष यह है कि यह बदलाव इस शैक्षणिक सत्र से ही लागू होगा। बोर्ड की ओर से किए गए इस बदलाव के अनुसार 10वीं कक्षा के छात्रों को पास होने के लिए ओवरऑल 33 फीसदी अंक लाने होंगे।

अब तक छात्रों को इंटरनल और थ्योरी में सेपरेट 33 फीसदी अंक लाने होते थे, लेकिन अब कुल 33 फीसदी अंक लाने आवश्यक होंगे।

सीबीएसई की ओर से यह फैसला छात्रों को राहत देने के लिए किया गया है। यह नियम अतिरिक्त विषयों पर भी लागू होगा। 5 मार्च से बोर्ड की परीक्षाएं प्रारंभ हो रही हैं और परीक्षा से पहले उम्मीदवारों के लिए ये राहत की खबर है।

हालांकि पासिंग मार्क्स का पैटर्न वॉकेशनल सब्जेट पर लागू नहीं होगा। वोकेशनल विषय के लिए इंटरनल एसेसमेंट के 50 अंक निर्धारित हैं। सीबीएसई द्वारा जारी सर्कुलर में इस संदर्भ में स्थिति पूर्णत: स्पष्ट कर दी गई है।

ये भी पढ़ेंः CBSE का फरमान: सभी योग्य छात्रों का मिलेगा प्रवेश पत्र

केंद्रीय विद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू

केंद्रीय विद्यालयों में सत्र 2017- 18 के लिए प्रवेश प्रकिया एक मार्च से शुरू होने जा रही है। इस संबंध में केंद्रीय विद्यालय ने सर्कुलर जारी कर दिया है।

केंद्रीय विद्यालयों में कक्षा एक व अन्य कक्षाओं में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के पंजीकरण एक मार्च सुबह 8 से 19 मार्च शाम 4 तक होंगे। वहीं कक्षा दो से ऊपर की कक्षाओं (11वीं को छोड़कर) पंजीकरण 2 अप्रैल सुबह 8 से 9 अप्रैल शाम 4 बजे तक किए जाएंगे।

सभी कक्षाओं के लिए उम्र की गणना 31 मार्च, 2018 से होगी। इस बार प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करते हुए आॅफलाइन आवदेन की सुविधा बंद कर दी गई है। केवल ऑनलाइन आवेदन ही इस बार किया जा सकेगा।

केंद्रीय विद्यालयों की प्रवेश प्रक्रिया को और सुलभ बनाने के लिए यह कदम उठाया गया है। पूरे देश में 1 हजार केंद्रीय विद्यालय हैं। रायपुर में केंद्रीय विद्यालयों की संख्या तीन है। इनमें एक केंद्रीय विद्यालय मौजूदा सत्र में ही प्रारंभ किया गया है।

Next Story
Top